माँ नर्मदा से आज मिलने आएगीं गंगा, पढ़े पूरी खबर

२५१ दीपों से होगी महाआरती

By: poonam soni

Published: 24 May 2018, 03:04 PM IST

होशंगाबाद। ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की दसवीं तिथि को गंगा दशहरा पर्व मनाया जाएगा। इस ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की दसवीं तिथि पर ऐसा माना जाता है कि गंगा दशहरा यानि आज के दिन माँ नर्मदा से गंगा जी स्वयं आती है।
शास्त्रों के अनुसार आज के दिन जो भी गंगा में स्नान करता है उसके समस्त पापों को गंगा हर लेती है। सभी पापों का हरण करने वाली भगवती गंगा का पृथ्वी पर अवतरण हुआ था। गंगा दशहरा के दिन नर्मदा स्नान, दानपुण्य व खास कर सत्तू का दान करने से ग्रह दोष, बाधाओं से मुक्ति मिलती है।

 

तीन पापों का होता है नाश
ंगंगा दशहरा के पवित्र दिन में गंगा स्नान करने से तीन पापों का नाश होता है। जिसमें कायिक, चार वायिक और तीन मानसिक पापों का नाश होता है। शास्त्री के अनुसार आज के दिन हजारों की संख्या में श्रृद्धालु सेठानी घाट पर श्रृद्धा की डुबकी लगाने यहां पहुंचेगें।

गंगा दशहरा पर २५१ दीपों से होगी महाआरती
गंगा दशहरा पर सेठानीघाट पर माँ नर्मदा की महाआरती २५१ दीपों से की जाएगी। हर पूर्णिमा पर विशेष रूप से यह आरती की जाएगी। महाआरती के पहले माँ नर्मदा का श्रृंगार किया जाएगा। आचार्य सोमनाथ शर्मा आचार्यत्व में महाआरती करेगें।

mahaaarti

गंगा दशहरा की पूर्व संध्या पर श्रद्धालुओं ने निकाली रामधुन अखंड संकीर्तन यात्रा
होशंगाबाद. गंगा दश्हरा महोत्सव की पूर्व संध्या पर श्री दादा कुटी बालागंज से संत भैय्याजी सरकार के सानिध्य में श्रद्धालुओं ने शाम पांच बजे श्री राम धुन अखंड संकीर्तन यात्रा निकाली। यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं ने कीर्तन किया। आज गंगा दशहरा पर श्री दादा कुटी पर रामधुन व भजन संगीत का आयोजन होगा। इस अवसर पर पंकज पटेरिया की शब्द ध्वज पत्रिका के विशेषांक का विमोचन भी संत भैय्या जी सरकार करेंगे। शाम को भंडारा प्रसादी के बाद आयोजन का समापन होगा। जिले सहित प्रदेश के अन्य जिलों से श्रद्धालु निशान लेकर दादा कुटी पहुंचेंगे पहले लोग सतरस्ते पर एकत्र होंगे जहां से जूलूस के रूप में निशान लेकर कुटी पहुंचेंगे।

sankirtan
poonam soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned