सरकार की प्राथमिकताएं ही मेरी: कलेक्टर आशीष सक्सेना

सरकार की प्राथमिकताएं ही मेरी: कलेक्टर आशीष सक्सेना

Brijesh Chouksey | Updated: 22 Dec 2018, 05:30:31 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

सात माह कलेक्टर रहीं दास बोली- शांतिपूर्ण चुनाव होना ही मेरी उपलब्धि

होशंगाबाद। नए कलेक्टर आशीष सक्सेना सोमवार को होशंगाबाद आकर नई जिम्मेदारी संभाल सकते हैं। इससे पहले उन्हें पत्रिका से चर्चा करते हुए कहा कि उनकी पहली प्राथमिकता, राज्य सरकार की जो भी प्राथामिकताएं हैं वे रहेंगी। झाबुआ से होशंगाबाद आने वाले २००५ बैच के आईएएस अफसर आशीष सक्सेना जल्द ही ज्वाइनिंग दे सकते हैं। जनता के बीच जाकर काम करने वाले आशीष सक्सेना ने बातचीत के दौरान बताया कि होशंगाबाद आने के बाद सबसे पहले वो जिले को समझेगें। उनकी प्राथमिक्ता की कोई सूची तैयार नहीं की है। उनकी प्राथमिक्ताएं सरकार कि जो योजनाएं होंगी, उसे प्रभावी तौर पर लागू कराया जाएगा। सक्सेना ने कहा कि होशंगाबाद ज्वाइनिंग जल्द से जल्द करेंगे। अभी कोई तारीख तय नहीं कर पाए हैं।

कार्यकाल के दौरान किसानों को दिलाया योजनाओं का लाभ

सात माह तक जिले की कमान संभालने वाली कलेक्टर प्रियंका दास बोली कि शांतिपूर्ण और निष्पक्ष विधानसभा चुनाव सम्पन्न कराना ही उनकी उपलब्धि रही। वर्ष 2009 बैच की आईएएस दास को मई 2018 में होशंगाबाद का कलेक्टर बनाकर भेजा गया था। इससे पहले वे भोपाल नगर निगम कमिश्नर थीं। अब उनका तबादला मुरैना हुआ है। वह 23 दिसंबर तक छुट्टी पर हैं और 24 दिसंबर को वापस आकर नए कलेक्टर को प्रभार सौंपेंगी। पत्रिका से बातचीत में पूरे जिले में विधानसभा चुनाव के दौरान रि-पोल की स्थिति नहीं बनी। कोई गंभीर शिकायतें नहीं आई। चुनाव आयोग ने भी उनके चुनाव प्रबंधन की सराहना की। उनकी प्राथमिकता कृषि योजनाओं का किसानों को लाभ दिलाने की रही। जब-जब भी किसान उनके पास आए और जिले के भ्रमण व शिविरों में किसानों ने अपनी समस्याएं बताईं उनका यथासंभव निराकरण कराया गया

गंदगी से पटे पड़े अस्पताल के वॉटर कूलर, मरीज और परिजन यहीं पीते हैं पानी हालात

कायाकल्प योजना का भी नजर नहीं आ रहा असर होशंगाबाद. जिला अस्पताल में मरीज और उनके परिजनों के लिए मौजूद वॉटर कूलर गंदगी से घिरे हैं। वॉटर कूलर के आसपास गंदगी और काई जमा है। एेसी स्थिति के बाजवूद मरीज और उनके परिजनों को मजबूरन इसी जगह पानी पीना पड़ता है। जबकि जिला अस्पताल में कायाकल्प योजना भी चल रही है। जिसमें अस्पताल परिसर को साफ-सुथरा बनाने के अलावा रंगरोगन करके खूबसूरत बनाने का उद्देश्य शामिल है। जिला अस्पताल में इटारसी सहित आसपास के ग्रामीण इलाकों से मरीज इलाज कराने आते हैं। अस्पताल परिसर में मेटरनिटी वार्ड और ट्रामा सेंटर के पास वॉटर कूलर लगाए गए हैं। जिनसे मरीज और उनके परिजनों को पीने का पानी उपलब्ध होता है। अस्पताल के मेल वार्ड में भर्ती एक मरीज से मिलने आए मेहरागांव के रमेश कुमार ने कहा कि वॉटर कूलर के आसपास इतनी गंदगी है कि पानी पीने के दौरान बदबू आती है। अस्पताल प्रबंधन को कम से कम सफाई तो करवानी चाहिए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned