शोध संगोष्ठी पर 'मुन्नी बदनाम हुई' गाने पर थिरके अतिथि विद्वान, वीडियो हुआ वायरल

चुलबुल पांडे बने भावेश सोलंकी के साथ अतिथि विद्वान और कॉलेज कर्मी जमकर थिरक रहे हैं

होशंगाबाद। होशंगाबाद जिले के होमसाइंस महाविद्यालय में राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी के दौरान अतिथि विद्वान मुन्नी बदनाम हुई गाने पर मंच पर जमकर थिरके। उसी दौरान बनाया यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हुआ। यह संगोष्ठी 18 जनवरी को गल्र्स कॉलेज में आयोजित की गई थी। इस संगोष्ठी में योग और व्यायाम का महत्व बताया जाना था। महत्व तो दूर की बात अतिथि विद्वानों द्वारा मुन्नी बदनाम हुई गाने पर डांस ही करने लगे। साथ ही इसमें चुलबुल पांडे बने मुंबई के कलाकार भावेश सोलंकी के साथ अतिथि विद्वान और कॉलेजकर्मी डांस करते देखे जा रहे हैं।

डांस करने पर मिला कारण बताओं नोटिस
राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी में योग और व्यायाम का महत्व सुनने आईं सैकड़ों छात्राएं, कॉलेज स्टाफ और देशभर से शोध संगोष्ठी में रिसर्च पेपर प्रस्तुत करने आए शोधार्थी हॉल में बैठे थे। इसमें भावेश सोलंकी ने संगोष्ठी संयोजक डॉ. ज्योति जुनगरे के साथ एक-एक कर मंच पर नृत्य करने आमंत्रित किया। इसके बाद हुड़दंग शुरू हो गया। हालांकि प्राचार्य ने तुरंत म्यूजिक बंद करवाने को कहा। अब कॉलेज प्रबंधन सफाई दे रहा है कि मॉडर्न एक्सरसाइज म्यूजिक के साथ है और भावेश जिम संचालक हैं इसलिए युवाओं के बीच उन्हें आमंत्रित किया गया।

सीधी बात- डॉ. एमएस रघुवंशी, एडी उच्च शिक्षा भोपाल होशंगाबाद संभाग
सवाल- राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी के मंच पर मुन्नी बदनाम हुई जैसे गाने पर प्राचार्य की उपस्थिति में प्राध्यापकों का थिरकना उचित है।
जवाब- यह उचित नहीं है। नहीं ऐसा नहीं होना चाहिए। यह गलत है। मंच फूहड़ता के लिए नहीं हैं।
सवाल- कॉलेज का कहना है जिम संचालक होने के कारण जूनियर सलमान के तौर पर पहचाने जाने वाले भावेश को बतौर अतिथि बुलाया।
जवाब- अतिथि कौन होगा, कार्यक्रम कैसा हो, यह प्राचार्य तय करते हैं। मुझे नहीं बुलाया गया इसलिए कुछ कहना मुश्किल है।
सवाल- अब क्या विभाग प्राचार्य और प्राध्यापकों पर कार्रवाई करेगा।
जवाब- शिकायत आने पर नियमानुसार जांच करवाई जाएगी।

इनका कहना है...
भावेश मुंबई के जिम संचालक हैं। एक्सरसाइज की मॉडर्न टेक्नीक म्यूजिक के साथ ही डेवलप हो रही है इसलिए युवा छात्रों के सामने उन्हें आमंत्रित किया गया। कार्यक्रम में पर्वतारोही और एवरेस्ट समिट करने वाली प्रदेश की प्रथम महिला मेघा भी थीं।
डॉ.ज्योति जुनगरे, संगोष्ठी प्रभारी

कार्यक्रम की रूपरेखा योग विभाग प्रभारी ने बनाई थी। मंच पर अचानक जब यह गीत शुरू हुआ तो उसे बंद करवाया गया। डांस करने वाले प्राध्यापक बाहर के हैं। कोई भी नियमित प्राध्यापक मंच पर डांस नहीं कर रहे थे।
डॉ. कामिनी जैन, प्राचार्य अग्रणी कॉलेज

Show More
poonam soni
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned