प्रदेशभर के शिक्षकों का आंदोलन प्रशासन ने किया हाईजैक

मंदिर में बना रहे थे नियमितीकरण की मांग को लेकर शांति पूर्ण प्रदर्शन करने की रणनीति

पिपरिया। अतिथि विद्वानों के छिंदवाड़ा में आज सुबह शुरू हुए आंदोलन को प्रशासन ने कुचल दिया। आंदोलन के लिए प्रदेशभर के कॉलेजों के शिक्षक छिदंडवाड़ा पहुंचे थे। जहां प्रदेश सरकार को उनके घोषणापत्र में किए गए वचन पत्र की याद दिला कर प्रदेश के विभिन्न कॉलेजों में पदस्थ अतिथि विद्वानों ने नियमितीकरण की मांग को लेकर छिंदवाड़ा के एक मंदिर में शांतिपूर्वक प्रदर्शन शुरू किया था। इसी दौरान प्रशासन ने पुलिस के माध्यम से इस आंदोलन को तितर-बितर कर दिया। जानकारी के अनुसार इन शिक्षकों को बस में बैठाकर ले जाया जा रहा है अभी यह झिरपा पहुंचे हैं।

पिपरिया सहित अन्य कॉलेजो के भी शिक्षक
पिपरिया बनखेड़ी सहित विभिन्न कॉलेजों के अतिथि विद्वान भी इस आंदोलन में शामिल होने गए थे। उन्होंने फोन पर बताया उन्हें पुलिस ने एक बस में भरकर पिपरिया के लिए रवाना कर दिया है। अतिथि विद्वानों का कहना है यह लोकतंत्र की हत्या है। हम शांतिपूर्वक अतिथि विद्वानों से फॉर्म भरवा कर प्रशासन को सौंपने वाले थे। हमें अपनी मांग रखना आवश्यक है प्रदेश सरकार ने भी चुनाव से पूर्व अतिथि विद्वानों के नियमितीकरण को लेकर वचन दिया था।

शिक्षकों का कहना
उस वचन को पूरा करने की जगह बर्बर तरीके से आंदोलनकारियों की आवाज को दबाया जा रहा है यह गलत है। बस में नजरबंद अनेक अतिथि विद्वानों ने फोन पर बताया|

शकील खान
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned