Heavy Rain नर्मदा का रौद्र रूप, खतरे के निशान के ऊपर पहुंची, निचली बस्तियों में भरा पानी

महिमा नगर, बंगाली कॉलोनी, नारायण नगर, पीलीखंती में भराया पानी, लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने की हो रही तैयारी

By: sandeep nayak

Published: 29 Aug 2020, 09:00 AM IST

होशंगाबाद/ रातभर से हो रही मूसलादार बारिश और तवा, बरगी और बारना बांध के गेट खुले रहने से होशंगाबाद जिले में बाढ़ के हालात बन गए हैं। नर्मदा ने रौद्र रूप धारण कर लिया है। शनिवार अलसुबह से ही सेठानीघाट पर कालेमहादेव को स्नान कराया। निचली बस्तियों महिमा नगर, बंगाली कॉलोनी, नारायण नगर पीलीखंती सहित तटीय गांवों में बारिश-बाढ़ का पानी भरा रहा है। बैक वाटर आना शुरू हो गया है। सुबह सात बजे नर्मदा का जल स्तर खतरे के निशान 967 फीट से ऊपर 970.20 फीट पर पहुंच गया। इधर, तवा डेम के 13 गेटों की ऊंचाई बढ़ाकर 32 फीट कर दी गई है। इसमें से 5 लाख 73 हजार क्यूसिक पानी प्रति सेकेंड छोड़ा जा रहा है।

इन बस्तियों में बाढ़ का खतरा
शहर में नर्मदा का जल स्तर 968 फीट पहुंचते ही शनिचरा वार्ड, जगदीशपुरा, भीलपुरा, लेंडिया नाला और 970 फीट पर आदमगढ़, संजय नगर, ग्वालटोली, बंगाली कॉलोनी में बाढ़ की स्थिति बननी शुरू हो गई है। महिमा नगर, बंगाली कॉलोनी निचली बस्तियों के लोगों को प्रशासन के दल ने बसों से नर्मदा कॉलेज राहत शिविर में पहुंचाया है। 975 फीट जल स्तर आने पर फेफरताल, कोरीघाट, झंडा चौक और 980 फीट पर बीटीआई, एसपीएम गेट, नारायण नगर में बाढ़ की स्थिति बन सकती है।

Heavy Rain नर्मदा का रौद्र रूप, खतरे के निशान के ऊपर पहुंची, निचली बस्तियों में भरा पानी

यह है सुबह सात बजे जल स्तर
सेठानीघाट पर नर्मदा का जल स्तर सुबह 7 बजे 970.20 फीट पहुंच गया। इधर, तवा डेम का जल स्तर 1166.10 फीट, बरगी डेम का 422.35 मीटर एवं बारना डेम का जल स्तर 348.16 मीटर पर चल रहा है।

67 गांवों में मंडराया बाढ़ का खतरा
होशंगाबाद, बाबई, सेमरी सहित सोहागपुर, डोंगरवाड़ा, बरंडुआ सहित 67 गांवों में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। यह सभी गांव डूब प्रभावित हैं। होमगार्ड, एसडीआरएफ के दल सहित प्रशासन का अमला तटीय गांवों का भ्रमण कर लोगों को सुरक्षित ऊंचे स्थानों पर वाहनों से एनाउंस कर पहुंचने की अपील कर रहा है।

Heavy Rain नर्मदा का रौद्र रूप, खतरे के निशान के ऊपर पहुंची, निचली बस्तियों में भरा पानी

सभी रास्ते हुए बाधित, पुलिया-नाले उफान पर
जिले में बैतूल, हरदा और पिपरिया के रास्ते पुलिया, नालों के ऊफान पर आने से बंद हो गए हैं। चारों तरफ का आवागमन बाधित चल रहा है। भारी बारिश के चलते शनिवार सुबह सब्जी मंडी नहीं लग सकी है। मुख्यालय का संपर्क गांवों से टूट गया है। शहर के मुख्य बाजार हलवाई चौक, जयस्तंभ चौक में जल भराव जारी है।

इनका कहना है....
रात तीन बजे नर्मदा खतरे के निशान को पार कर चुकी है, सभी तीनों बांधों के खुले हुए हैं। हर घंटे एक-एक फीट जल स्तर बढ़ रहा है। निचली बस्तियों में बंगाली कॉलोनी, महिमा नगर के लोगों को नर्मदा कॉलेज राहत शिविर में शिफ्ट कराया गया है।
-शैलेंद्र बड़ौनिया, तहसीलदार होशंगाबाद

- ग्वालटोली एसपीएम महिमा नगर संजय नगर वार्ड नंबर 33 वार्ड नंबर 32 मैं लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से जलभराव हो गया है साथ ही नर्मदा जी में बाढ़ होने के कारण बेक वाटर से भी जलभराव की स्थिति बन गई है।

- शहर की तिवारी कॉलोनी पुलिसलाइन में आया नालों का पानी, दो से 3 फीट पानी घुसा कॉलोनी में।

- होशंगाबाद संभाग मुख्यालय का संपर्क गांव से टूटा, बांद्राभान रोड पर 4 से 5 फीट पानी वह रहा है।

- होशंगाबाद शहर में बार-बार बिजली व्यवस्था ठप्प हो रही है। आज सुबह की नर्मदा जल सहित जेटपंपों से पुरानी लाइनों से भी सप्लाई नहीं हो सकी है। लगातार बारिश का दौर जारी है।

- शहर के मुख्य बाजार में भर आया पानी लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से शहर के मुख्य बाजार में पानी भरा गया है

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned