दो माह पहले आए थे कलेक्टर, भाजपा से जुड़े रेत ठेकेदारों पर रहे मेहरबान तो नाराज हुए मंत्री, फिर...

मंत्री थे नाराज, एसपी के साथ कलेक्टर को हटाने की थी सिफारिश

By: sandeep nayak

Published: 10 Mar 2019, 11:53 AM IST

होशंगाबाद। भाजपा से जुड़े रेत ठेकेदारों पर मेहरबानी जिले के दो माह पुराने कलेक्टर आशीष सक्सेना पर भारी पड़ी। कांग्रेस से जुड़े कथित रेत माफिया के दबाव में एसपी के बाद कलेक्टर को भी हटा दिया। उनसे प्रभारी मंत्री पीसी शर्मा नाराज थे। एसपी अरविंद सक्सेना के साथ उन्हें हटाने के लिए नोटशीट लिखी गई थी। सक्सेना की जगह बुरहानपुर के जिला पंचायत सीइओ शीलेंद्र सिंह को नया कलेक्टर बनाया है। वे भारतीय प्रशासनिक सेवा के अफसर हैं। वे आज चार्ज लेंगे।
सूत्रों ने बताया कि कलेक्टर आशीष सक्सेना ने भाजपा से जुड़े लोगों को रेत स्टाक की अनुमति दे दी थी, लेकिन कांग्रेस से जुड़े नेताओं के डंपरों पर लगातार कार्रवाई की जा रही थी। इससे प्रभारी मंत्री नाराज थे। सक्सेना को दो महीने पूर्व ही प्रियंका दास की जगह यहां पदस्थ किया गया था। सरकार बदलने के बाद रेत के कारोबार में पर्दे के पीछे कांग्रेस नेता उतर आए हैं। पंचायत की रेत खदानों की आड़ में वे अवैध रेत उत्खनन कर रहे हैं। प्रशासन और पुल्ेिास पर उन्हें सहयोग करने और भाजपा नेताओं से जुड़े लोगों पर कार्रवाई का दबाव है। इसी के चलते पिछले दिनों थाने से बिना काईवाई के डंपर छोड़े गए थे। पूर्व एसपी अरविंद सक्सेना ने भी अवैध उत्खनन एवं परिवहन में सहयोग करने से इंकार कर दिया था। उनके साथ ही कलेक्टर को भी हटाने की नोटशीट लिखी गई थी। लेकिन तब वे बच गए थे। सक्सेना 2005 बैच के प्रमोटी आइएएस हैं।

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned