ज्वाइन करने के दूसरे ही दिन कलेक्टर पहुंचे जिला अस्पताल, खुल गई सफाई व्यवस्था की पोल

मरीज के पलंग पर बीमारी का लेखाजोखा रखने के दिए डाक्टरों को निर्देश, अधूरे पड़े निर्माण पूरे करने पीडब्ल्यूडी को दिया अल्टीमेटम

By: sandeep nayak

Published: 09 Dec 2019, 01:26 PM IST

फोटो : एचडी०९३१-३२
होशंगाबाद/ शनिवार को पदभार संभालने के दूसरे ही दिन रविवार को नवागत कलेक्टर धनंजय सिंह जिला अस्पताल में व्यवस्थाओं की नब्ज टटोलने पहुंच गए। कलेक्टर सुबह १० बजे अस्पताल पहुंचे। यहां पंजीयन से लेकर मरीजों के इलाज तक की व्यवस्था का करीब डेढ़ घंटे तक अवलोकन किया। इस दौरान कलेक्टर के सामने जिला अस्पताल की सफाई व्यवस्था की पोल भी खुल गई। अस्पताल परिसर में जगह-जगह गंदगी थी और सड़कों पर गंदा पानी बह रहा था। गंदे पानी से बजबजा रही इन्हीं सड़कों से होकर कलेक्टर ने पूरे अस्पताल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने अस्पताल में भीतर अस्पताल प्रबंधन और पूरे परिसर में सफाई का जिम्मा नपा को सौंपा। कलेक्टर ने सीएमओ से कहा- सफाई बेहद जरूरी है, सप्ताह में दो दिन पूरे परिसर की सफाई नपा करेगी। निरीक्षण के दौरान उनके साथ जिला पंचायत सीईओ आदित्य सिंह, एसडीएम आदित्य रिछारिया, एसडीओपी मोहन सारवान, सीएमएचओ डा. दिनेश कौशल, डा. सुनील जैन व अन्य मौजूद थे। कलेक्टर ने सडीओ लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए कि अस्पताल के निर्माणाधीन कार्यों को शीघ्र पूर्ण करें।

बैड पर मिले मरीजों की पूरी केस हिस्ट्री
कलेक्टर ने सबसे पहले मेल सर्जिकल वार्ड का निरीक्षण किया। यहां अस्पताल में मिलने वाले भोजन और इलाज के संबंध में मरीजों से सवाल किए। मरीजों ने भी संतुष्टिपूर्ण जबाव दिया।

रात में बंद रहती है पुलिस चौकी-
डाक्टरों ने कलेक्टर को स्टॉफ की कमी और अस्पताल परिसर की चौकी में रात को पुलिस जवान तैनात करने की बात कही। डाक्टरों ने बताया कि रात में मारपीट व मर्ग होने पर वार्डबॉय को थाने मेमो लाने भेजना पड़ता है। कलेक्टर ने एसडीओपी मोहन सारवान को समस्या का समाधान करने निर्देशित किया।

पंजीयन से इलाज तक का हाल जाना-
कलेक्टर ने जिला अस्पताल के ओपीडी, दवा वितरण कक्ष, जननी सुरक्षा कक्ष, सर्जिकल वार्ड, मेडिसिन वार्ड, डायलिसिस, न्यूबॉर्न केयर सेंटर, पोषण पुनर्वास केंद्र, लॉड्री भवन, भोजनशाला का निरीक्षण किया। एसएनसीयू में रजिस्टर पर बच्चों की इंट्री व एनआरसी में भर्ती बच्चों के माताओं से बातचीत की।

इनका कहना है...
हमारी कोशिश है मौजूदा व्यवस्थाओं को बेहतर कैसे किया जाए। इसी उद्देश्य से निरीक्षण किया गया। सफाई के लिए नपा और निर्माण के लिए पीडब्ल्यूडी को निर्देशित किया है। रिक्त पदों को भरने की कोशिश करेंगे।
धनंजय सिंह, कलेक्टर

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned