किसानों की फसल में फिर लगी आग, डेढ़ करोड़ का नुकसान

नरवाई की आग से 65 किसानों की चार सौ एकड़ की फसल तबाह

By: sandeep nayak

Published: 10 Apr 2019, 07:00 AM IST

माखननगर। बाबई में मंगलवार को नौ गांवों के खेत में नरवाई की आग लग गई। आग से 65 किसानों की चार सौ एकड़ में लगी खड़ी गेहूं की फसल जलकर देखते ही देखते खाक हो गई। इससे करीब डेढ़ करोड़ का नुकसान पहुंचने का अनुमान है, वहीं हजारों एकड़ की नरवाई रात तक धधकती रही। पेड़ भी जले हैं। आग से बचने भागे चालक का टै्रक्टर कुएं में लटक गया। चालक ने कूदकर जान बचाई। इस भीषण आगजनी के बाद छोटे किसान बर्बाद हो गए हैं। उनके घरों में एक दाना भी नहीं बचा। चूल्हे जलना भी मुश्किल हो गया है। सूचना पर विधायक विजयपाल सिंह, एसडीएम आरएस बघेल, एसडीओपी प्रेमप्रकाश गौतम और तहसीलदार आदि मौके पर पहुंच गए थे।
मोहासा से फैली नरवाई की आग
मंगलवार दोपहर 2 बजे करीब मोहासा जोड़ से नरवाई की आग शुरू हुई जो आरी, मढ़ावन, पनवासा, बीकोरी, बीकोर, तमचरू, भटवाड़ा, बागलखेड़ी व नंगवाड़ा आदि करीब एक दर्जन ग्रामों में फैल गई। आग को काबू करने इटारसी, होशंगाबाद, सोहागपुर से दमकलें बुलाई गई। सबसे अधिक नुकसान तमचरू में हुआ।
पीडि़त किसान का दर्द
तमचरू के किसान प्रेम कीर ने बताया कि कुल 2 एकड़ जमीन है, जिसमें लगी खड़ी फसल के साथ पानी देने का इंजन भी जल गया। इसी गांव के भागीरथ व महेश, बब्लू कीर की भी 2 से 4 एकड़ की पूरी फसल खाक हो गई।
टै्रक्टर कुएं में गिरा
देवीराम कीर के खेत में लगी आग से बचने के लिए गिन्दा कीर का टै्रक्टर चला रहे दिन्नू यादव टै्रक्टर लेकर भागा तो आग के धुएं में खेत में बना बगैर मुंडेर का कुआं समझ नहीं आया और कुएं में जा गिरा। गनीमत रही कि कुएं की चौड़ाई कम थी और पीछे कल्टीवेटर लगा था, इसलिए ट्रेक्टर लटक गया। चालक ने कूद कर जान बचाई।
अतिक्रमण ने रोकी दमकल
बीकोरी के मुख्य मार्ग को अतिक्रमण के कारण दमकलों को आग बुझाने जले खेतों में जाने में परेशानी हुई। तमचरू जाने वाली दमकल का 10 से 15 मिनिट खराब हो गया।

 

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned