रोक के बावजूद जमकर चल रहा अवैध खनन, अधिकारी बेबस

बांद्राभान, रायपुर और निमसाडि़य़ा से रोजाना नांदनेर पुल और भोपाल तिराहे से निकल रहे रेत के डंपर

By: Hitendra Sharma

Published: 17 Aug 2020, 05:36 PM IST

होशंगाबाद. सीहोर जिले की बुदनी सहित अन्य जगहों की रेत खदानें चालू हैं, और उसकी आड़ में होशंगाबाद जिले जैसे प्रतिबंधित जिले से रेत का अवैध खनन और परिवहन-स्टॉक धड़ल्ले से जारी है, आखिर किस की शह पर यह अवैध कारोबार हो रहा है, रेत माफिया पूरे प्रशासन पर भारी पड़ रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि बुदनी और भोपाल से पूरा अवैध खनन का कारोबार संचालित हो रहा है।

आखिर कौन है रेत माफिया
सवाल यह है कि आखिर बुदनी, होशंगाबाद और भोपाल में वह कौन रेत माफिया हैं, जिनके आगे पूरा प्रशासन और वरिष्ठ अधिकारी भी बौने साबित हो रहे हैं। भोपाल तिराहा चौकी सहित बुदनी और हबीवगंज के रेत नाकों से रेत के अवैध डंपर रोजाना भोपाल के अंदर प्रवेश कर रहे हैं। भोपाल के अलावा देवास और इंदौर रेत कैसे पहुंच रही है।

रेत के अवैध अड्डे
होशंगाबाद की बात की जाए तो बांद्राभान संगम तट, सांगाखेड़ापुल, आंचलखेड़ा, मोहासा प्लांट, निमसाडिय़ा, धोखेड़ा बायपास, इटारसी-केसला, बाबई, नर्मदा के डोंगरवाड़ा, करबला पुल, नर्मदा पुल के नीचे बरंडुआ के आगे डोलरिया, सिवनीमालवा, नसरुल्लागंज तट, बनखेड़ी, पिपरिया सहित नर्मदा नदी एवं तवा सहित सहायक नदियों से अवैध खनन लगातार जारी है।

डंपरों ने आईजी की गाड़ी को भी रोका
मीडिया रिपोर्ट को देखें तो बीती रात में आईजी की गाड़ी को भी भोपाल से लेकर बरखेड़ा-बुदनी के बीच में रेत माफिया के डंपरों ने रास्ता रोक लिया था, हालांकि आईजी खुद ऐसे किसी बाकये से साफ इंकार कर रहे हैं, उनका कहना है कि उनके रेंज के दूसरे जिले सीहोर में उनका कोई हस्तक्षेप नहीं है। न ही उनकी गाड़ी को डंपरों ने रोका था। जबकि मीडिया की खबरों में आईजी की यह खबर चर्चा का विषय बनी हुई है।


photo_2020-08-17_17-16-57.jpg

एनजीटी व प्रशासन ने लगाई रोक
पूरे शासन-प्रशासन पर रेत माफिया हाबी हैं, सत्ता के संरक्षण में यह अवैध कारोबारी डंपरों से रेत का लगातार परिवहन कर रह हैं। भोपाल रोड इन डंपरों से रात में जाम हो जाती है, लेकिन आवागमन को बाधित करने वाले इन डंपर चालकों एवं इनके मालिकों पर कोई कार्रवाई नहीं होना मिलीभगत को ही दर्शा रहा है।

खनन पर पूरी तरह रोक
नर्मदापुरम् संभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की मानें तो संभाग के होशंगाबाद, बैतूल और हरदा जिले में अवैध खनन परिवहन पर पूरी तरह रोक लगी हुई है। होशंगाबाद से रेत का परिवहन बंद करा दिया गया है। कमिश्नर, आईजी, कलेक्टर एवं एसपी सभी ऐसे किसी भी अवैध परिवहन से साफ इंकार कर रहे हैं, लेकिन सीहोर जिले के बुदनी, नसरुल्लागंज, डिमावर, पल्लेपार जोशीपुर, जर्रापुर, जमनिया आदि नर्मदा तटों पर अवैध खनन व टै्रक्ट्रर-ट्रॉलियों से नर्मदा के अंदर पानी में से हो रहे अवैध खनन को लेकर कोई भी कुछ कहने को तैयार नहीं है।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned