नए साल में दूसरी बड़ी कार्रवाई : अवैध परिवहन व ओवरलोड 22 डंपर-ट्रक जब्त किए

प्रशासन की संयुक्त टीम ने की कार्रवाई, रातभर चला सर्चिंग अभियान

By: devendra awadhiya

Published: 06 Jan 2020, 12:26 PM IST

होशंगाबाद/शनिवार-रविवार की रात स्टेट एवं नेशनल हाइवे पर सर्चिंग कर राजस्व, पुलिस और खनिज विभाग की संयुक्त टीम ने बिना रायल्टी व ओवरलोड रेत और गिट्टी से भरे 22 डंपर-ट्रक जब्त किए हैं। सभी वाहनों को देहात थाना परिसर में पुलिस अभिरक्षा में खड़े कराया है। इनमें कुछ वाहन रसूखदारों के बताए जाते हैं। खनिज विभाग इनके खिलाफ जप्त रेत के वाहनों पर रेत नियम-2019 एवं गिट्टी के वाहनों पर गौण खनिज नियम-1996 के संशोधित नियमों के तहत प्रकरण दर्ज कर सक्षम न्यायालय में प्रस्तुत किये जायेंगे। ज्ञात रहे कि दो दिन पहले भी टीमों ने &8 डंपर-ट्रक जब्त किए थे।
इन स्थानों पर हुई धरपकड़
संयुक्त टीम ने होशंगाबाद में भोपाल तिराहा, निमसाडिय़ा, बाबई मार्ग, बांद्राभान रोड पर औचक कार्रवाई करते हुए 22 वाहनों को जप्त किया है। इनमें से & वाहन गिट्टी खनिज बिना रॉयल्टी के, 2 गिट्टी के ओवर लोड, 2 वाहन रेत के बिना रॉयल्टी के सहित 15 वाहन रेत खनिज के ओवरलोड पाए गए।

वन विभाग ने पकड़ी 50 हजार की सागौन, तीन आरोपी भी पकड़े
सोहागपुर/माखननगर/सामान्य वन विभाग की टीम ने रविवार सुबह तवा नदी के पास एक पिकअप वाहन से 50 हजार रुपए की सागौन जब्त कर तीन आरोपियों को पकड़ा है। उक्त वाहन झालौन की तरफ जा रहा था।
एसडीओ सेंगर ने बताया कि गश्ती के दौरान बागरा सर्किल के सोनतलाई क्षेत्र से अवैध रूप से काटी गई सागौन लाने की सूचना मुखबिर से मिली थी। सूचना पर तवा नदी के मानागांव घाट के पास पिकअप क्र. एमपी 09 केडी 2807 को रोका। जिसमें बोरियों के नीचे छिपे सागौन के 1& गोल रखे थे। जिन्हें सोहागपुर लाया गया। उक्त सागौन 1.25 घनमीटर है। आरोपियों में प्रकाश उइके, अतरसिंह व लखन मरकाम तीनों निवासी ग्राम बटकुई शामिल हैं।
डॉक्टर करता है काम!
प्रशिक्षु एसडीओ व प्रभारी रेंज ऑफिसर विजय मौर्य ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों ने बताया कि वह गुर्रा के पास एक ग्राम में रहने वाले डॉक्टर पुनीत के लिए काम करते हैं। तथा उसी के लिए लकड़ी काटी गई थी। वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी बताते हैं कि पुनीत के यहां पहले भी छापे मारे जा चुके हैं। वाहन भी उसी का बताया गया है। हलांकि ऑनलाइन सर्चिंग में पता चला कि वाहन किसी ब्रजेश कुमार का है। फिलहाल वन विभाग ने मप्र वन उपज व्यापार अधिनियम, जैव विविधता के नियमों व भारतीय वन अधिनियमों के तहत प्रकरण बनाने की तैयारी में है।

devendra awadhiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned