पुलिस ने छापेमारी कर पकड़े पांच डंपर-ट्रक और एक टै्रक्टर-ट्रॉली

पुलिस ने छापेमारी कर पकड़े पांच डंपर-ट्रक और एक टै्रक्टर-ट्रॉली

yashwant janoriya | Publish: Sep, 03 2018 08:00:00 AM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

बाबई के मनवाड़ा, सांगाखेड़ा, झालसर, मेहराघाट में चल रहा था अवैध खनन, स्टॉक और परिवहन

होशंगाबाद. एसपी अरविंद सक्सेना की स्पेशल टीम ने रविवार को बाबई के मनवाड़ा, सांगाखेड़ा, झालसर, मेहराघाट में सर्चिंग कर 5 डंपर-एलपी ट्रक और एक टै्रक्टर-ट्रॉली जब्त किए हैं। सभी चालक बिना रायल्टी के चोरी की रेत ले जा रहे थे। इसी तरह रामपुर गुर्रा एवं निमसाडिय़ा से भी शनिवार शाम को तीन डंपर पकड़े गए थे। पुलिस ने इन सभी के प्रकरण जिला खनिज विभाग को सौंप दिए हैं।
यहां से जब्त किए वाहन - एएसपी राकेश खाखा ने बताया कि एसपी के निर्देश पर रविवार दोपहर में स्पेशल टीम प्रभारी उमाशंकर यादव के नेतृत्व में बाबई के तटवर्ती क्षेत्र में सर्चिंग के लिए भेजा था। जिसमें मनवाड़ा से रेत से भरी एक बिना नंबर की टै्रक्टर-ट्रॉली , सांगाखेड़ा-चांदला रोड किनारे से अवैध स्टॉक से रेत भरते हुए एक डंपर, मनवाड़ा से एक एलपी ट्रक, ग्राम झालसर से एक ट्रक, मनवाड़ा रोड से एक डंपर, मेहराघाट के पास से एक डंपर जब्त किया है। सर्चिंग के दौरान इनके चालक वाहनों को छोड़कर पुलिस टीम को चकमा देकर भागने में सफल हो गए। जब्त ट्रक-डंपरों में एमपी 09 एचएफ 0723, एमपी 09 एचएच 9249, एमपी 38 एच 1123 शामिल हैं। बाकी डंपरों पर रजिस्टे्रशन नंबर स्पष्ट नहीं थे। इनके कुछ नंबर मिटा दिए गए थे।
चपलासर से भागे दो टै्रक्टर-ट्रॉली - ग्राम चपलासर में पुलिस टीम को देखते ही रेत से भरी दो टै्रक्टर-ट्रॉलियों को उनके चालक वाहन भगाकर ले गए। बताया गया कि इसमें डायल-100 के कर्मचारियों की नाकामी रही।
निमसाडिय़ा, रामपुरगुर्रा से तीन डंपर जब्त - शनिवार शाम देहात थाना एवं रामपुरगुर्रा पुलिस ने रेत से भरे तीन डंपरों को पकड़ा था। निमसाडिय़ा से डंपर एमपी ०४ जीए २७५१ को जब्त किया गया। ये डंपर बिना रायल्टी के रेत का परिवहन कर रहे थे। इन्हें जब्त कर थाना कैंपस में खड़े करवाया है। प्रकरणों को खनिज विभाग को सौंपा गया है।
झालसर स्टॉक में रेत नहीं, फिर भी काट रहे रायल्टी - ग्राम झालसर में जिला खनिज विभाग व्दारा एक माह पहले 14 सौ घनमीटर रेत जब्त कर इसमें खनिज निगम के माध्यम से एसोसिएट कॉमर्स को नीलाम की गई थी। इसे आंचलखेड़ा खदान के नाम दी थी। जब्त रेत करीब सौ ट्रक थी। जो कुछ दिन में ही खत्म हो गई थी। स्टॉक में रेत नहीं होने के बाद भी इस स्टॉक के नाम पर दूसरे स्टॉक की रायल्टी काटकर टै्रक्टर-ट्रॉलियों से रेत जमा कर अवैध स्टॉक से रेत बेची जा रही है। यह बात आज पुलिस टीम की सर्चिंग में भी सामने आई है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned