होशंगाबाद। नर्मदा नगरी कहे जाने वाले होशंगाबाद शहर के मंदिरों में हर दिन करीब ५ क्विंटल फूल भगवान को चढ़ाए जाते हैं। मंदिरों में चढऩे वाले फूल अब दूसरो फूुलो का भोजन पोष्टिक बनकर उन्हे जीवन दे रहें है। इन फूलों को मंदिर में चढऩे के बाद इनकी जैविक खाद बनाई जा रही है। जिससें प्रतिदिन २५ किलो खाद बनकर तैयार हो रही है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned