नहीं आई जननी एक्सप्रेस, प्रसूता ने दम तोड़ा

फोन लगाने के बाद भी दो घंटे तक नहीं पहुंची जननी, मासोद के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में प्रसव के बाद मौत

By: Sanket Shrivastava

Published: 30 Apr 2016, 11:43 PM IST

 बैतूल।जननी एक्सप्रेस के संचालकों को भुगतान नहीं होने से वाहन चलाने में लापरवाही कर रहे हैं, जिसका नतीजा है कि प्रसूताओं की जान पर बन आ रही है। शुक्रवार रात में वायगांव निवासी एक प्रसूता की जिला अस्पताल में मौत हो गई। परिजनों ने जननी एक्सप्रेस नहीं मिलने से मौत का आरोप लगाया है।
प्रभातपट्टन ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम वायगांव निवासी भोजराज गायकी ने बताया कि उनकी 22 वर्षीय पत्नी प्रियंका को प्रसव पीड़ा हुई तो गुरुवार दोपहर में जननी के काल सेंटर में फोन लगाया। काल सेंटर से वाहन थोड़ी देर में आने की बात कही, लेकिन दो घंटे बाद भी गाड़ी नहीं आई। मजबूरी में प्राइवेट वाहन से प्रियंका को मासोद के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र लाना पड़ा। महिला को शाम के समय में नार्मल प्रसव हुआ और इसके बाद उसका स्वास्थ्य बिगड़ गया। शुक्रवार को मुलताई अस्पताल ले गए। मुलताई से फिर शाम को जिला अस्पताल रैफर कर दिया। भोजराज ने बताया कि शुक्रवार रात में दस बजे के लगभग प्रियंका की जिला अस्पताल में मौत हो गई। भोजराज ने आरोप लगाया कि उसकी पत्नी को समय से जननी एक्सप्रेस  मिलती तो जान बच सकती थी। परिजनों ने जननी संचालक पर कार्रवाई की मांग की हैं। प्रियंका ने एक स्वस्थ नवजात बालिका को जन्म दिया हैं। प्रसूता नवविवाहिता होने से तीन डॉक्टरों की टीम ने पीएम किया है।
Sanket Shrivastava Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned