फीस की टीस: अब यूनिफॉर्म और शैक्षणिक सामग्री खरीदने पर दबाव बनाने वाले स्कूलों की खैर नहीं

डीईओ ने सरवाइट स्कूल में जांच के दिए आदेश

By: poonam soni

Published: 16 May 2020, 01:23 PM IST

होशंगाबाद. पालकों पर यूनिफॉर्म और शैक्षणिक सामग्री खरीदने के संबंध में अनुचित दबाव बनाने की शिकायत पर डीईओ रवि सिंह बघेल ने शुक्रवार को शहर के सरवाइट सीनियर सेकेंडरी स्कूल की जांच के आदेश दिए हैं। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रथम नागरिक नागरिक संघ मुकेश दुबे ने यह शिकायत डीईओ और कलेक्टर से की थी। डीईओ ने प्राचार्य और विकास समन्वयक अधिकारी को जांच की जिम्मेदारी सौंपी है।


तय दुकानों में मिल रही किताबें
दुबे ने ज्ञापन में बताया था की प्राइवेट स्कूलों के सिलेबस में निजी प्रकाशकों की किताबें, वह भी तय दुकानों पर ही मिल रहीं। शहर में संचालित कुछ निजी स्कूल एनसीईआरटी के बजाय निजी प्रकाशकों की किताबें चला रहे हैं। जबकि स्कूल शिक्षा विभाग ने जनवरी में निजी स्कूलों से पुस्तकों के सम्बन्ध जानकारी मांगी थी। बता दें एनसीईआरटी का कोर्स 1000 मेे ही आ जाता है वही निजी प्रकाशक की पुस्तकें 5500 तक में आती हैं।

फीस की टीस: बच्चों को ऑनलाइन क्लास का मतलब ही नहीं पता, फिर भी वसूल रहे फीस

पत्रिका में प्रकाशित खबर
मेरे पास शिकायत आई थी। बीआरसी और अन्य दो प्राचार्य को निजी स्कूलों में कौन सी पुस्तकें चलाई जा रही हैं इसकी जांच की जिम्मेदारी सौंपी है। नियम विरुद्ध पुस्तकों का संचालन होने पर स्कूलों के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी।
रवि सिंह बघेल, डीईओ

poonam soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned