जमींदोज हुए कंडम क्वार्टर, अब पेड़ों पर खतरा

जमींदोज हुए कंडम क्वार्टर, अब पेड़ों पर खतरा

yashwant janoriya | Publish: Sep, 11 2018 01:31:14 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

हरे-भरे पेडों पर कुल्हाड़ी चलवाने की तैयारी में पुलिस विभाग

इटारसी. सिटी थाने के पीछे और एमजीएम कॉलेज के सामने पुलिस कॉलोनी में बने हुए आवासों को लगभग जमींदोज कर दिया गया है। अब इस कॉलोनी में बरसों से लगे हुए हरे-भरे पेड़ों पर कुल्हाड़ी चलने का खतरा है। परिवर्तन संस्था के पेड़ों को नुकसान नहीं पहुंचाने के ज्ञापन के बावजूद पुलिस विभाग पेड़ों के संरक्षण के प्रति गंभीर नजर नहीं आ रहा है।

14 करोड़ का है आवासीय प्रोजेक्ट - पुलिस लाइन में नए आवास बनाने के लिए करीब 14 करोड़ रुपए की राशि स्वीकृत हुई है। यह राशि पुलिस हाउसिंग सोसाइटी भोपाल ने लंबे इंतजार के बाद स्वीकृत की है। इस राशि से पहले चरण में कुल 120 मकान बनाए जाना है। यह सभी 120 आवास एमजीएम कॉलेज के सामने की जमीन पर निर्मित होंगे। दूसरे चरण में करीब 80 बनेंगे जिनका निर्माण सिटी थाने के पीछे की खाली की गई जमीन पर होगा।
ज्ञापन पर नहीं दिया ध्यान - करीब एक महीने पहले पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में काम करने वाली परिवर्तन संस्था ने एसडीएम कार्यालय में ज्ञापन सौंपकर इन सभी पेड़ों को बचाते हुए ड्राइंग डिजाइन बनाने की मांग रखी थी। यही मांग प्रधानमंत्री कार्यालय भी ज्ञापन भेजकर की गई थी मगर पुलिस विभाग जिस रवैए से चल रहा है उससे हरे-भरे पेड़ों के कटने का खतरा खड़ा हो गया है। स्थानीय स्तर पर पुलिस विभाग के अधिकारियों को ड्राइंग डिजाइन के बारे में ही नहीं मालूम है और ना ही स्थानीय स्तर से पेड़ों को बचाने के संबंध में पुलिस मुख्यालय कोई पत्राचार किया गया है।

किसने क्या कहा
इस पूरे प्रोजेक्ट की ड्राइंग डिजाइन भोपाल से ही बन रही है। पेड़ों का क्या होगा इस बारे में हमें जानकारी नही है। इतना जरुर कह सकते हैं कि यदि वे बिल्डिंग के नक्शे में आएंगे तो उन्हें काटा जा सकता है।
बीएस चौहान, थाना प्रभारी जीआरपी

हरे-भरे पेड़ काटा जाना गलत है। हमने इस मामले में पहले ही प्रशासन को ज्ञापन सौंपा है। साथ ही प्रधानमंत्री कार्यालय भी ज्ञापन प्रेषित किया है। उन हरे-भरे पेड़ों को शिफ्टिंग मशीन बुलाकर नपा को अन्यत्र शिफ्ट करना चाहिए।
अखिल दुबे, सदस्य परिवर्तन संस्था

पत्रिका से इस बारे में जानकारी मिली है हम कल ही ठेकेदार को पेड़ नहीं काटने का नोटिस जारी करेंगे। हम अपने स्तर से उन सभी पेड़ों को शिफ्ट कराने का प्रयास करेंगे।
अक्षत बुंदेला, सीएमओ

Ad Block is Banned