दस साल पहले यूपी छोड़ आए मप्र, आज भी घर में सजा रहे कृष्ण लीलाओं की मनमोहक झांकी

मंदिरों में होगें सांस्कृतिक कार्यक्रम

By: sandeep nayak

Published: 03 Sep 2018, 02:49 PM IST

होशंगाबाद। कान्हा का हर कोई दीवाना है। यही कारण है कि जन्माष्टमी का पर्व उसी धूमधाम के साथ और उल्लास से मनाया जाता है। मंदिरों में तो कान्हा का जन्मोत्सव मनाया ही जाता है। घरों में लोग आकर्षक झांकी सजाते हैं। आज हम आपको एक ऐसे परिवार से रू-ब-रू करा रहे हैं। जिनका कान्हा से ऐसा लगा है कि 10 साल पहले जब यूपी छोड़कर मप्र में बसे तो घर में ही वृदांवन का माहैाल तैयार करने लगे हैं। यह परिवार है कृष्ण बिहार कॉलोनी में रहने वाला शर्मा परिवार।

Janmashtami 2018 celebration in hoshangabad madhya pradesh

मठ मंदिर तैयार
जन्माष्टमी के लिए शहर के मंदिर तैयार हैं। मठ मंदिर समिति अध्यक्ष गोपाल प्रसाद खड्डर व सचिव पंडि़त युवराज दत्त तिवारी ने बताया कि मथुरा में कृष्णजन्मोत्सव सोमवार को मनाया जाएगा। इस दिन शहर के सभी कृष्ण मंदिरों व घरों में भगवान का आकर्षक श्रृंगार कर माखन मिश्री का भोग लगेगा। इस दिन के लिए सुंदर झांकियां तैयार की गई हैं। शहर के कृष्ण बिहार कॉलोनी के शर्मा परिवार के सदस्य हर साल की तरह इस साल भी कृष्ण लीलाओं की झांकियां तैयार कर धूमधाम से कृष्ण जन्मोत्सव मनाएंगे। उत्तर प्रदेश के रहने वाले मनीष शर्मा बताते हैं उन्हे भगवान कृष्ण की वृदांवन नगरी से खूब लगाव है, यहां आने के बाद पिछले १० साल से घर में ही भगवान व गोपियों की रास लीलाओं को दर्शाते आ रहे हैं। इन झांकियों में लगने वाली सामग्री व प्रतिमाएं मिट्टी से घर की महिलाएं बनाती हैं। रात १२ बजे कृष्ण जन्मोत्सव के लिए कॉलोनी की महिलाएं गोपियों की वेशभूषा में सांस्कृतिक कार्यक्रम करेंगी।

ये झांकियां आकर्षक का केंद्र
झूला, रथ, वासुदेव टोकरी, वृंदावन, गोवर्धन पर्वत, माखन चोर लीलाएं, छीर चुराना, यशोदा माखन पिरोना, गाय चराना, गोपी के संग रास लीला जैसी कई झांकियां बनाकर तैयार की गई।

यहां मनेगी जन्माष्टमी
पंडि़त नितेन्द्र चौबे बताते हैं कि शहर में श्रीजी मंदिर, बद्रीनाथ मंदिर, द्वारकाधीश मंदिर, गोपाल मंदिर, दाऊजी मंदिर, रामजानकी मंदिर, जगदीश मंदिर, सत्यानाराण मंदिर, नर्मदा मंदिर, कोठारी मंदिर, राधाकृष्ण मंदिर, रठछोर मंदिर, राधाकृष्ण मंदिर इटारासी में भगवान श्रीकृष्ण जन्ममोत्सव व सांस्कृति कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned