यहां के न्यायालय में नियमों का उल्लंघन करने पर न्यायाधीश दे रहे मटके की सजा

गलत पार्किंग करने पर जुर्माने की जगह मटके रखने की सजा

By: poonam soni

Updated: 03 Jun 2019, 06:10 PM IST

सिवनीमालवा। न्यायालय में न्यायाधीश नियमों का उल्लघंन करने पर कई तरह के जुर्माने और सजाए सुनाते हैं। लेकिन मटके की सजा आपने पहली बार सुनी होगी। मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले के सिवनीमालवा के न्यायालय में नियमों का उल्लघंन करने पर न्यायाधीश अजीब तरह की सजा सुनाते हैं। यहां के न्यायाधीश यशवंत मालवीय नियमों का उल्लघन करने पर मटके रखने की सजा सुनाते हैं। इनकी इस सकारात्मक सोच से न्याय वाटिका में गर्मी के दिनों में कोई पानी से परेशान न हो। सभी की प्यास बुझ सके।

हरियाली के बाद मटके पर फोकस
न्यायाधीश यशवंत मालवीय की न्याय वाटिका में हरियाली छाने के बाद अब कोर्ट में वे मटका रखने की सजा सुनाते हैं। ताकि गर्मी के दिनों में कोई परेशान न हो। इन्हीं सजा के करीब 12 मटके भीषण गर्मी में न्यायालय आने वाले लोगों की प्यास बुझा रहे हैं। अधिवक्ता पुष्पेंद्र बुंदेला ने बताया न्यायालय में न्यायाधीश यशवंत मालवीय पार्किंग सहित अन्य छोटे मामलों में जुर्माने के बजाय मटके रखने की सजा सुनाते हैं। यह एक अच्छी पहल है। न्यायाधीश यशवंत मालवीय ने बताया नियमों का उल्लंघन करने पर जुर्माने की राशि के बजाय हम इस स्तर से कार्य करें तो समाज में कई बदलाव आएंगे।

हरियाली दे रही न्याय वाटिका
सिवनीमालवा के न्यायाधीश यशवंत मालवीय के विशेष प्रयास से न्यायालय परिसर का कायाकल्प हो रहा है। जनसहयोग और जनभागीदारी से सुदंर न्याय वाटिका बनाई है। न्यायवाटिका में पहले पौधा लगाने की सजा दी जाती थी। इससे वहां अब हरियाली छाने लगी है। अब वाहन पार्किंग में नियम तोडऩे पर बतौर सजा पानी का एक मटका रखने की सजा सुनाई जा रही है। न्यायाधीश ने नियमों का उल्लघंन करने वालों पर 12 मटकों की सजा सुना चुके है।

 

 

 

Show More
poonam soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned