अध्यापकों को महंगा पड़ा संविलियन घोषणा पत्र की प्रति जलाना, मिले नोटिस

अध्यापकों को महंगा पड़ा संविलियन घोषणा पत्र की प्रति जलाना, मिले नोटिस

govind chouhan | Publish: Sep, 05 2018 06:42:14 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

संकुल प्राचार्य द्वारा मामले में संबंधित 23 अध्यापकों को नोटिस दिए, तीन दिनों में जवाब मांगे

सोहागपुर. मप्र में अध्यापकों के शिक्षा विभाग में संविलियन की प्रक्रिया अंतर्गत अध्यापकों द्वारा कुछ घोषणा पत्र भरे जाने थे। लेकिन अध्यापकों में घोषणा पत्र को लेकर विरोध के चलते स्थानीय स्तर पर 25 अगस्त को अध्यापकों द्वारा उत्कृष्ट विद्यालय संकुल केंद्र के परिसर के अंदर घोषणा पत्र व विकल्प पत्रोंं की प्रतियां जलाई गई थीं। जिसे लेकर संकुल प्राचार्य द्वारा मामले में संबंधित अध्यापकों को नोटिस दिए गए हैं। 31 अगस्त को प्राचार्य द्वारा जारी कारण बताओ सूचना पत्र में उल्लेख किया गया है कि शासकीय एसजेएल स्कूल(यही उत्कृष्ट विद्यालय भी है।) के शासकीय परिसर व प्रांगण में बिना किसी पूर्व सूचना के व बिना किसी शासकीय अनुमति के जबरदस्ती प्रवेश कर दिनांक 25 अगस्त 2018 को अरुण कुमार रघुवंशी सहायक अध्यापक शासकीय मिडिल स्कूल धपाड़ा के निर्देशन एवं संबंधित की मौैके पर उपस्थिति में अध्यापकों संवर्ग कर्मचारियों के द्वारा शासकीय दस्तावेज आदि की प्रतियां जलाई गईं। एवं मप्र शासन के विरोध में नारेबाजी की गई। शासकीय परिसर के अंदर अध्यापक संवर्ग के कर्मचारियों के उक्त कृत्य से शासकीय कार्यों में व्यवधान उत्पन्न हुआ एवं शैक्षणिक गतिविधियों में विविध प्रकार की परेशानी उत्पन्न हुई। अत: रघुवंशी सहित उक्त समय मौके पर उपस्थित अध्यापकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। उक्त पत्र का जवाब तीन दिनों में संबंधित नोटिस धारी अध्यापकों से मांगा गया है।
23 को मिले नोटिस
संकुल प्राचार्य द्वारा मामले में सोहागपुर मुख्यालय सहित आसपाास के ग्रामीण क्षेत्रों के अध्यापक संवर्ग के उपस्थित शिक्षक-शिक्षिकाओं के नाम नोटिस जारी किए हैं। बताया जाता है कि कुल 23 अध्यापक संवर्ग कर्मचारियों को नोटिस भेजे गए हैं। जिनमें पुरुष तथा महिला कर्मचारी भी शामिल हैं। नोटिस पत्र क्रमांक 178 के जरिए सभी से तीन दिनों में जवाब मांगे गए हैैं। नोटिस दिए जाने की सूचना संकुल प्राचार्य द्वारा कलेक्टर, जिला पंचायत सीईओ, संयुक्त संचालक लोक शिक्षण, डीईओ, एसडीएम सोहागपुर, सोहागपुर जपं सीईओ, बीईओ, बीआरसी को भी प्रेषित की गई है।

Ad Block is Banned