लर्निंग हब से बच्चों को प्रतिभा निखारने में मिलेगी मदद

लर्निंग हब से बच्चों को प्रतिभा निखारने में मिलेगी मदद
Learning Hubble will help

yashwant janoriya | Publish: Jul, 26 2019 06:54:39 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

सीबीएसई के निर्देश पर पांच निजी स्कूल मिल कर बच्चों के लिए करेंगे कई गतिविधियां

इटारसी. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सीबीएसई ने सभी स्कूलों को आपस में जोडऩे जा रहा है। इटारसी, सिवनी मालवा और होशंगाबाद के पांच निजी स्कूल मिलकर हब बना रहे हैं। जल्दी ही ये स्कूल कोलाबरेटिव लर्निंग हब (सीएलएच) के जरिए आपस में मिलकर बच्चों की प्रतिभा को निखारेंगे। इसी तरह क्षेत्र के सेंट्रल और अन्य सीबीएसई शालाएं भी लर्निगं हब बनाने जा रही है।
बोर्ड के अनुसार स्कूल अपने संसाधनों को अन्य स्कूलों के साथ साझा करेंगे। इस अनोख्री पहल के बाद लर्निंग हब के अंदर आने वाले स्कूल अलग-अलग गतिविधियों में एक-दूसरे का सहयोग कर सकेंगे। बोर्ड की ओर से कहा है कि स्कूल वाले क्षमता निर्माण में एक-दूसरे की मदद करेंगे। स्कूल आपस में मिलकर संयुक्त तरीके से शैक्षिक, सांस्कृतिक, अन्य कार्यक्रमों का आयोजन करेंगे। इससे छात्रों को सीखने के लिए अधिक मौके मिलेंगे। प्रज्ञान स्कूल संचालक दर्शन तिवारी ने बताया कि सीबीएसई के लर्निंग हब बनाने को लेकर हमारी सिवनी मालवा और होशंगाबाद के निजी स्कूलों से बात हुई है। जल्दी ही हम स्कूल संचालक बैठक बुलाकर इसे अंतिम रूप देंगे। सीबीएसई यह प्रोजेक्ट बच्चों के लिए बहुत ही कारगर और प्रतिभा को उभारने में मदद मिलेगी।
स्कूलों में ऐसे होगा सहयोग
- लर्निग हब में शामिल स्कूल आपस में खेलकूद, प्रयोगशालाओं, कक्षाएं, सभागारों को भी साझा करेंगे। शिक्षक भी हब स्कूलों में जाकर पढ़ाएंगे।
- स्कूलों के प्रधानाचार्य एवं शिक्षकों के लिए संयुक्त प्रशिक्षण, खेलकूद एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम, विज्ञान प्रदर्शनी, क्विज होगा।
- छात्रों के लिए सुरक्षा, सलामती, ऊर्जा और जल संरक्षण, पर्यावरण, डिजिटल नवाचार और मूल्यों एवं नेतृत्व कौशल आदि पर सेमिनार लेकर प्रोत्साहित किया जाएगा।
- आधारभूत ढांचा और शिक्षकों की कमी की वजह से स्कूलों में पढ़ाई प्रभावित नहीं होगी। किसी स्कूल में शिक्षक की कमी है, तो उसकी पूर्ति दूसरे स्कूल से कर सकेंगे।
स्कूलों ने भी दिखाई रूचि
सीबीएसई के निर्देश मिलने के बाद लर्निंग हब बनाने में निजी स्कूलों ने रूचि दिखाई है। इटारसी के प्रज्ञान स्कूल के साथ सिवनी मालवा के जीव ज्योति और ज्ञान रत्न, होशंगाबाद के स्प्रिंगडेल व एक अन्य स्कूल के मिलकर लर्निंग हब बनाने के लिए बात चल रही है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned