भोजन वितरण व्यवस्था: नेतागिरी चमकाने एडीएम के सामने भिड़े भाजपा विधायकों के गुट

नाराज एडीएम ने कहा- यह न समझे प्रशासन नहीं कर सकता यह काम

होशंगाबाद। एडीएम कार्यालय में शनिवार दोपहर शहर में भोजन वितरण व्यवस्था में लगे दो भाजपा विधायकों के गुट आपस में भिड़ गए। एक गुट को सोशल मीडिया पर भोजन वितरण के फोटो अपलोड करने पर एतराज था, जिस पर दूसरे गुट ने आपत्ति उठाई। विवाद बढ़ता देख एडीएम जेपी माली नाराज हो गए। बोले- आप लोग सहयोग कर रहे हैं, इसका मतलब यह नहीं है कि प्रशासन यह काम नहीं कर सकता। अब भविष्य में इस तरह की समन्वय बनाने बैठक नहीं बुलाएंगे। इसके बाद शाम को नपा प्रशासन दोनों गुटों का पत्र के माध्यम से अलग-अलग क्षेत्रों में भोजन वितरण का जिम्मा सौंप दिया।

भोजन वितरण व्यवस्था: नेतागिरी चमकाने एडीएम के सामने भिड़े भाजपा के दो गुट

सोशल मीडिया पर फोटो डालने पर आपत्ति

दरअसल पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं भाजपा विधायक विजयपाल सिंह का समर्थक लॉक डाउन के पहले दिन से शहर में भोजन वितरण कर रहे है। उन्हें प्रशासन ने पास जारी किए हैं। नगर पालिका की देखरेख में यह काम चल रहा था। बाद में भाजपा विधायक डॉ. सीतासरण शर्मा समर्थक भी भोजन वितरण के लिए मैदान में उतर आए। इस कारण दोनों पक्षों में समन्वय का अभाव हो रहा था और एक ही स्थान पर, एक ही समय में दो-दो बार भोजन के पैकेट पहुंचने लगे थे। विवाद की स्थिति भी निर्मित होने लगी थी। इस कारण एडीएम ने दोनों पक्षों को शनिवार दोपहर दो बजे अपने कार्यालय में समन्वय बनाने के लिए बुलाया। यहां एसडीएम, नगर पालिका सीएमओ सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे। एक पक्ष से पूर्व नपाध्यक्ष अखिलेश खंडेलवाल के भाई रीतेश खंडेलवाल, मुकेश अगिन्होत्री एवं धरमू और दूसरे पक्ष से विधायक डॉ. शर्मा के भतीजे एवं विधायक प्रतिनिधि पीयूष शर्मा, महेश चौकसे व प्रकश शिवहरे आदि पहुंचे। शर्मा समर्थकों ने सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो का हवाला देते हुए कहा कि कुछ लोग पुलिसकर्मियों को चाय वितरण कर रहे हैं, उस पर रोक लगे। भोजन का डोर टू डोर कलेक्शन बंद हो। अस्पताल की रोटी बनाने की मशीन उन्हें दी जाए ताकि वे सिर्फ पूडिय़ां न बांटकर, रोटी भी दे सकें। कई किचिन की व्यवस्था बंद हो। दूसरे गुट द्वारा सोशल मीडिया पर भोजन वितरण के फोटो डालने पर रोक लगे। इस पर दूसरे गुट ने आपत्ति उठाई। उनका कहना था कि फोटो डालने पर क्या दिक्कत है। इसे लेकर पीयूष शर्मा और मुकेश अग्रिहोत्री के बीच तीखी बहस हो गई। अग्निहोत्री का कहना था कि हम नपा प्रशासन के मार्गदर्शन में भोजन वितरण कर रहे हैं। सीएमओ के पास पूरी सूची है। साथ ही उनकी चार-पांच किचिन चल रही हैं, जहां खिचड़ी, सब्जी, रोटी और पुलाव बनाकर वितरित किया जा रहा है। विवाद होने पर शर्मा ने कहा कि वह 1200 भोजन के पैकेट बनाकर प्रशासन को दे देंगे, वह खुद बांट ले। इसके बाद शाम को नपा ने 600 लोगों को भोजन वितरण की जिम्मा शर्मा समर्थकों को देते हुए उनके वितरण केंद्र भी निर्धारित कर दिए।
इनका कहना है
दोनों पक्षों को बुलाया गया था, हमारी कोशिस है कि जरूरतमंदों को समय पर भोजन सामग्री उपलब्ध हो। इसलिए शहर को सेक्टर में बांटने के निर्देश एसडीएम को दिए हैं।
जीपी माली, एडीएम
हम प्रशासन के मार्गदर्शन में पहले दिन से भोजन वितरण कर रहे हैं। आगे भी जो प्रशासन का आदेश होगा उसका पालन किया जाएगा। हमारा मकसद नेतागिरी चमकाना नहीं बल्कि यह है कि शहर में कोई भी गरीब लॉक डाउन में भूखा न रहे।
मुकेश अग्निहोत्री

Corona virus
Show More
बृजेश चौकसे Editorial Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned