इस गुरुकुल में अब भी जारी है लॉकडाउन, कोरोना गाइडलाइन का हो रहा पालन

- सात माह से लटका है ताला
- अंदर किसी का भी प्रवेश है प्रतिबंधित

By: Ashtha Awasthi

Published: 29 Oct 2020, 12:03 PM IST

भोपाल/होशंगाबाद। पूरे प्रदेश में अनलॉक 5 का दौर चल रहा है। अब सब कुछ पूरी तरह से खुल चुका है। लोग कोरोना की गाइडलाइन को मानते हुए अपनी-अपनी जिंदगी में आगे बढ़ने लगे हैं लेकिन अब भी मध्यप्रदेश के होशंगाबाद में एक सांस्कृतिक शैक्षिक परिसर ऐसा भी है जहां पर लॉकडाउन का पालन किया जा रहा है। यहां पर लोग अभी भी कोरोना की गाइड लाइन को मानते हुए पूरी तरह से लॉकडाउन में रह रहे है।

Shops will close at six in the evening, lockdown on Sunday in bhilwara

100 सदस्य रहते हैं एक साथ

जानकारी के लिए बता दें कि शहर के बीटीआई क्षेत्र में स्थित एक गुरुकुल में करीब 100 सदस्य स्थायी रूप से रहते हैं। ये सदस्य हैं मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, बिहार व महाराष्ट्र आदि प्रांतों से आए हुए 76 ब्रम्हचारी, 10 आचार्य, 1 प्रधान आचार्य 1 गुरुकुल अध्यक्ष व 11 सेवकगण है। इस गुरुकल से कोरोना वायरस बहुत दूर है क्योंकि यहां पर सभी कोरोना गाइडलाइन का पालन कर रहे हैं।

coronavirus.jpg

अब भी है लॉकडाउन

मार्च में जब देशव्यापी लॉकडाउन लागू हुआ था तब से इस गुरुकुलके मुख्य द्वार पर तभी से यानी बीते सात माह से ताला लटका है। आज भी इस गुरुकुल में किसी भी व्यक्ति का प्रवेश प्रतिबंधित है। गुरुकुल अध्यक्ष स्वामी ऋतस्पति परिब्राजक बताते हैं कि गुरुकुल परिवार ने शासन के नियमों का पूर्णत: पालन किया है। दो गज की दूरी, साबुन से हाथ धोना तो करते ही हैं। सबसे ज्यादा लॉकडाउन हमारे यहां अभी तक है।

coronavirus
Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned