Lokayukta Raid बिना छुट्टी के बैंक में दिनभर लगा रहा ताला, लेनदेन नहीं होने से किसान रहे परेशान

सहकारी बैंक मैनेजर के घर लोकायुक्त का छापा

By: sandeep nayak

Updated: 10 Apr 2019, 05:50 PM IST

होशंगाबाद। आमतौर पर बुधवार के दिन बैंकों में अच्छी चहल-पहल रहती है, लेकिन होशंगाबाद जिले के सिवनी मालवा के बानापुरा स्थित जिला सहकारी बैंक में सुबह से ही ताला लगा रहा। ऐसे में यहा पहुंचने वाले किसानों लेन-देन नहीं होने के कारण परेशान होते रहे। ऐसा नहीं है कि इस दिन कोई अवकाश था, दरअसल इस बैंक में पदस्थ ब्रांच मैनेजर सतीश सिटोके के आवासों पर बुधवार को लोकायुक्त की एक टीम ने छापामार कार्रवाई की थी। इसी के अंतगर्त लोकायुक्त की एक टीम बुधवार सुबह ही बैंक पहुंची थी, और मैनेजर की केबिन से जरूरी दस्तावेजों की जांच की थी। इसके बाद से ही बैंक में ताला लगा था।

इसके बाद से बैंक के अंदर किसी भी कर्मचारी को नहीं जाने दिया गया और ताला लगा दिया गया था। यहां बैंक के बाहर सुबह से लोकायुक्त के २ अधिकारी दरवाजे पर बैठे रहे। प्राप्त जानकारी के अनुसार टिमरनी हरदा की कार्यवाही के बाद टीम के अधिकारी बानापुरा बैंक आएंगे और ब्रांच मैनेजर सतीश सिटोके के कैबिन की जांच करेंगे और उनके चेम्बर में रखी अलमारियों और दस्तावेजों को देखेंगे।

lokayukta raid on co operative bank manager in timarni mp

बैंक खुलने का इंतजार करते रहे किसान
इधर, बैंक में ताला लगा होने के कारण किसान अपने समय से बैंक खुलने के इंतजार में बाहर बैठे रहे, लेकिन कुछ किसान तो वापस चले गए लेकिन कुछ खुलने के इंतजार में बैठे रहे। वहीं बैंक नहीं खुलने के कारण बुधवार को कोई लेनदेन नहीं हो सका।

ुसुबह से हरदा, टिमरनी पहुंची थी टीम
बुधवार सुबह जिला सहकारी केंद्रीय बैंक बानापुरा के मैनेजर सतीश सिटोके के मकानों पर लोकायुक्त की टीम ने छापामार कार्रवाही की है। यह कार्यवाही बुधवार सुबह ही शुरू हो गई थी, जैसे ही इसकी सूचना शहर में फैली चर्चा का विषय बना रहा। यह कार्यवाही आय से अधिक संपत्ति के मामले में की गई है।
सूचना पर लोकायुक्त की एक टीम सिटोके के हरदा, टिमरनी स्थित आवास पर पहुंची और छापामार कार्यवाही की है। बताया जाता है कि लोकायुक्त में सिटोके के आय से अधिक संपत्ति होने की शिकायत मिली थी। जिसके बाद टीम ने कार्यवाही शुरू की है। बताया जाता है कि टीम ने भोपाल, टिमरनी और हरदा में एक साथ कार्यवाही की है।

अलसुबह पहुंची थी टीम
बताया जाता है कि शिकायत के बाद लोकायुक्त की टीम टिमरनी स्थित सिटोके के आवास पर बुधवार अलसुबह ही पहुंच गई थी। इसके तुरंत बाद टीम ने कार्यवाही शुरू कर दी थी। जो दोपहर तक जारी रही।

पड़ताल के लिए सुनार को बुलाया
टीम ने बैंक मैनेजर के घर से छापेमारी के दौरान गहने, गाड़ी और अन्य संपत्ति की जांच की है। वहीं गहने की पड़ताल के लिए एक सुनार को भी मौके पर बुलाया गया था, जिसके माध्यम से घर में मिले गहनों की गणना की गई है।


15 सदस्यी दल टीम में
लोकायुक्त की कार्यवाही के दौरान 15 सदस्यों का दल मैनेजर के घर छापेमारी के लिए पहुंचा था।

पहले भी हो चुकी हैं शिकायतें
सिटोके की यह पहली शिकायत नहीं है, बताया जाता है कि हरदा और टिमरनी से पहले भी लोकायुक्त में आय से अधिक संपत्ति होने की सिटोके की शिकायतें पहले भी मिली थी। जिस पर कार्यवाही की गई थी। बताया जाता है कि सिटोके पर पूर्व में पहले भी गबन का मामला चल चुका है।
मामले में डीएसपी लोकायुक्त नवीन अवस्थी ने बताया कि विभिन्न जगहों पर एक साथ छापेमार कार्रवाई की गई है। जिसमें चल-अचल संपत्ति का पता लगाया जा रहा है। 15 लोगों की टीम ने सुबह टिमरनी पहुंच गई थी। वहीं मैनेजर सतीश सिटोके ने इस कार्रवाई को गलत बताया है उन्होंने कहा कि गंगाराम गूजर की शिकायत पर कार्रवाई की गई है।


बनापुरा में बैंक, टिमरनी से करते हैं अपडाऊन
बताया जाता है कि बैंक मैनेजर सिटोके टिमरनी स्थित अपने आवास पर रहते हैं, और बनापुरा में स्थित जिला सहकारी बैंक शाखा बानापुरा मेंं बतौर मैनेजर पदस्थ हैं,जहां यह अपडाऊन करते हैं।

 

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned