राज्यपाल आनंदीबेन के लिए बना खास मंच, जानें क्या है खासियत

राज्यपाल आनंदीबेन के लिए बना खास मंच, जानें क्या है खासियत

sandeep nayak | Publish: Aug, 12 2018 12:17:53 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

राज्यपाल आज करेंगी छात्रावास भवन का लोकार्पण

होशंगाबाद। राज्यपाल आनंदी बेन रविवार दोपहर को बनखेड़ी के गोविंद नगर पहुंच रही हैं। यहां पर उनका स्वागत करने के लिए विषेश तैयारी की गई है। साथ ही उनके कार्यक्रम के लिए खास मंच तैयार किया गया है। राज्यपाल के लिए संघ के भाऊ साहब भुस्कुटे न्यास में गाय के गोबर से तैयार किया गया मोमेंटो प्रदान किया जाएगा। इसमें राज्यपाल का चित्र चस्पा होगा। साथ ही उपहार माटी की गणेश प्रतिमा दी जाएगी।
स्वागत के लिए बना मंच
उनके स्वागत मंच भी गोबर और बांस से तैयार किया गया है। न्यास के प्रभारी अनिल अग्रवाल ने बताया कि राज्यपाल का स्वागत पूरी तरह से प्रकृतिक तौर पर किया जाएगा। राज्यपाल 1 बजे करीब पिपरिया के सर्किट हाउस पहुंचेगीं। इसके बाद 1.30 बजे बनखेड़ी के लिए रवाना होंगी। जहां ग्राम ज्ञानपीठ के भूमिपूजन से लेकर गोशाला, स्कूल कैंपस, कृषि की प्रयोगशाला आदि का भ्रमण करंेगी। नवीन छात्रावास भवन का लोकार्पण के बाद शाम को प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के हितग्राहियों को हित लाभ का वितरण करेंगी।

 

Madhya Pradesh Governor  <a href=anandiben patel latest news" src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/08/12/hd1222_3245409-m.jpg">

न्यास में बन रहीं राखियां
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) द्वारा संचालित भाऊसाहब भुस्कुटे न्यास अब इको फैंडली राखियां बना रहा है। जिससे रक्षा बंधन पर भाई जहां बहन की रक्षा का संकल्प ले तो बहन पर्यावरण संरक्षण का संदेश देती नजर आए। यह राखियां पूरे प्रदेश में सप्लाई करने की योजना है। बनखेड़ी के गोविंद नगर स्थित भाऊसाहब भुस्कुटे न्यास में बांस और रेशम से यह राखियां तैयार की जा रही हैं। न्यास के प्रभारी अनिल अग्रवाल ने बताया कि इन राखियों को बनाने में किसी तरह के प्लास्टिक व मेटल का उपयोग नहीं किया गया है। रंग भरने के लिए वाटर कलर का उपयोग किया जा रहा है। यह राखियां बनाने के पीछे न्यास का मकसद पर्यावरण के पति लोगों को जागरूक करना है।

गणेश उत्सव के लिए इस बार इको फ्रेंडली गणेश प्रतिमाओं की भी मांग है। न्यास में पहली बार १ हजार प्रतिमाएं बनाने न्यास के कारीगरों के पास प्री-बुकिंग है। प्लास्टर ऑफ पेरिस की प्रतिमाओं से पर्यावरण प्रदूषित होता इस कारण मिट्टी की प्रतिमाओं को बढ़ावा देने माटी के गणेश बनाए जा रहे हैं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned