मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में शादी कर लखपति बने पति-पत्नि!

खाते में डाली 10 गुना राशि, मामला उजागर के बना रहे वसूली का दबाब
मुख्यमंत्री कन्यादान के तहत खाते में डाले 4 लाख 80 हजार रूपए, योजना के तहत मिलने थे 48 हजार

By: rajendra parihar

Published: 25 Jun 2020, 08:00 AM IST

राजेन्द्र परिहार- होशंगाबाद
मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत हुए विवाह के बाद हितग्राही के खाते में 10 गुना राशि ट्रांसफर होने का मामला सामने आया है। बुदनी जनपद द्वारा हितग्राही के खाते में 48 हजार की जगह 4 लाख 80 रुपए ट्रांसफर किए गए। मामला उजागर होने के बाद अब जनपद पंचायत के अधिकारी वसूली का दबाव बना रहे हैं। दरअसल शहर के जुमेराती क्षेत्र में रहने वाले दीपक खातरकर ने 25 जून 2019 को बुदनी में हुए मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत हुए आयोजन में विवाह किया था। इसके बाद उसके खाते में योजना की राशि नहीं आई। दीपक ने इसके लिए सीएम हेल्पलाइप पर शिकायत की थी। सीएम हेल्पलाइन पर हुई शिकायत के बुदनी जनपद ने मार्च 2020 में राशि को जारी की लेकिन 48 हजार की जगह 4 लाख 80 हजार रुपए। अधिकारियों को जब गलती का एहसाह हुआ तो अब हितग्राही से चोरी छिपे वसूली का दबाव बना रहे हैं।
कोरोना में सरकार ने दी सहायता समझकर खर्च कर लिए पैसे
लॉक डाउन के दौरान जब हितग्राही ने राशि चैक की तो पता चला कि उसके खाते में 4 लाख 80 हजार रुपए हैं। उसे लगा कि कोरोना काल में सरकार गरीबों की मदद कर रही है। उसके घर में पांच सदस्य हैं इस वजह से ये राशि मिली होगी। तो उसने कुछ राशि खर्च कर दी। अब अधिकारियों के दबाव से पीडि़त परेशान है। उसने बताया कि वह कुछ राशि तो लौटा सकता है लेकिन पूरी राशि एक साथ लौटाने में अमसर्थ है।
लॉक डाउन लगा तो चेक नहीं कर पाए राशि
हितग्राही के खाते में 20 मार्च को 4 लाख 80 हजार रूपए ट्रांसफर हुए। इसके बाद बुदनी जनपद से फोन आया कि राशि ट्रांसफर हो गई है सीएम हेल्प लाइन से शिकायत वापस ले लो। सूचना के बाद हितग्राही सीएम हेल्पलाइन से शिकायत भी वापस ले ली। 22 मार्च से जनता कफ्र्यू और बाद में लॉक डाउन की वजह से बैंक खाते में राशि चेक नहीं कर पाया। इस वजह से भी मामला उजागर नहीं हुआ। यदि हितग्राही पहले राशि देख लेता तो मामला पहले ही सुलझ जाता।
इनका कहना है
योजना के तहत गलती से ज्यादा राशि ट्रांसफर हुई है। हितग्राही को राशि वापस करने का बोला है। दबाव जैसी कोई बात नहीं है। सरकार पैसा है वो तो वापस करना ही पड़ेगा।
सतीश दुबे, शाखा प्रभारी, जनपद बुदनी
--------------

rajendra parihar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned