86 ग्राम पंचायतों ने मजदूरों के साथ किया ऐसा काम

जिला पंचायत सीईआे ने सभी को जारी कराए नोटिस, ग्राम रोजगार सहायक का ७ दिनों और सचिवों का ३ दिनों का वेतन काटने के लिए नोटिस

By: sandeep nayak

Published: 20 Jul 2018, 04:28 PM IST

होशंगाबाद. मनरेगा के तहत जिले की 86 ग्राम पंचायतों ने मजदूरों को कोई काम ही नहीं दिया। इस पर जिला पंचायत ने सात ब्लाक की इन पंचायतों को नोटिस थमाए हैं। साथ ही काम नहीं देने वाली पंचायतों के सचिव और ग्राम रोजगार सहायक के वेतन में कटौती के आदेश दिए गए हैं। एेसी पंचायतों के सचिवों का तीन दिन और ग्राम रोजगार सहायकों का ७ दिनों का वेतन काटा जाएगा। दरअसल मनरेगा में जिला पंचायत जिले के मजदूरों को काम नहीं दे पा रही है। एेसे में स्टेट में मनरेगा में परफॉरमेंस खराब होता जा रहा है। इसे लेकर काम सुधार करने के लिए उच्चाधिकारियों ने दिशा निर्देश दिए थे। जिसके बाद जिले में मनरेगा में मजदूरों को काम की संख्या बढ़ाने का फरमान जारी हुआ।

यह काम कराए मजदूरों से
जिला पंचायत सीईओ पीसी शर्मा ने लेबर बजट अनुसार मजदूरों को अधिक से अधिक काम उपलब्ध कराने का कहा है। इसके लिए वृक्षा रोपण, जल संरक्षण, पीएम आवास के नवीन कार्यों में काम उपलब्ध कराया जा सकता है। उन्होंने कहा जिले के करीब 15600 अपूर्ण कार्यों के मास्टर रोल जारी कराकर काम उपलब्ध कराया जा सकता है।
इसलिए नहीं मिल रहे मजदूर
बताया जाता है कि मनरेगा में जिले के मजदूरों को २२ लाख दिनों का काम देने का लक्ष्य है। लेकिन मजदूरी १७४ रुपए प्रतिदिन है। पिछले वर्ष मजदूरी की दर १७२ रुपए प्रति दिन थी। जबकि बाजार में २५० रुपए प्रति दिन की मजदूरी मिल जाती है। इस कारण कोई मनरेगा के निर्माण कार्यों वाले स्थानों में काम नहीं करना चाहता है।

जिले में कितनी पंचायतें जहां चल रहे काम
ब्लॉक कुल ग्राम पंचायत कुल पंचायतें जहां काम चल रहे हैं
बाबई 61 49
बनखेड़ी 53 44
होशंगाबाद 49 33
केसला 49 42
पिपरिया 52 40
सिवनीमालवा 95 75
सोहागपुर 64 54
कहां-कितने मजदूर काम पर लगे
ब्लॉक कुल पंजीकृत मजदूर चल रहे काम काम में लगे मजदूर मास्टर रोल
बाबई 18647 3175 1321 843
बनखेड़ी 35150 4721 1976 1240
होशंगाबाद 15341 1426 328 203
केसला 25610 298 1458 778
पिपरिया 29283 3094 1244 672
सिवनीमालवा 24568 3062 1167 557
सोहागपुर 19870 2806 1475 739
नोट : जिले की 423 ग्राम पंचायतों में से कुल 337 पंचायतों में काम का संचालन हो रहा है।
&जिला पंचायत सीईआे के निर्देशों के बाद जो पंचायतें मजदूरों को काम नहीं दे रही हैं। उनको नोटिस जारी कर दिए गए हैं। उनके स्पष्टीकरण आने के बाद ही आगे की कार्रवाई तय होगी।
अरूण कुशराम, मनरेगा परियोजना अधिकारी होशंगाबाद

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned