यह विधायक बोले - कलेक्टर की हठधर्मिता से खतरे में 125 साल पुरानी धरोहर

यह विधायक बोले - कलेक्टर की हठधर्मिता से खतरे में 125 साल पुरानी धरोहर

Sandeep Nayak | Updated: 08 Aug 2019, 11:44:29 AM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

एक्सीलेंस स्कूल मैदान में निर्माणाधीन छात्रावास का काम विधायक डा. शर्मा ने रुकवाया

होशंगाबाद। एक्सीलेंस स्कूल पर नियम विरुद्ध तरीके से छात्रावास बनाया जा रहा है। जिसकी इजाजत कलेक्टर ने दी है। कलेक्टर की हठधर्मिता से 125 साल पुरानी धरोहर खतरे में है। यह आरोप लगाते हुए विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा ने बुधवार को एक्सीलेंस स्कूल परिसर में बन रहे छात्रावास का काम रुकवा दिया। ज्ञात रहे कि इससे पहले पूर्व मंत्री सरताज सिंह ने भी छात्रावास निर्माण का काम रुकवा दिया था।
विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा ने एक्सीलेंस स्कूल में हो रहे निर्माण पर आपत्ति लेकर तत्काल पीआईयू अधिकारियों से चर्चा कर काम बंद करा दिया। उन्होंने कहा कि हम हॉस्टल का निर्माण नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन की हठधर्मिता के कारण सवा सौ साल पुराने स्कूल, जो एक धरोहर भी है। उसका महत्व और सुंदरता नष्ट कर खेल मैदान में बालक छात्रावास का निर्माण किया जा रहा है। जबकि हाइकोर्ट सहित सभी प्रशासनिक आदेश हैं कि स्कूलों में ग्राउंड रहें। इसके बाद भी कलेक्टर ने खेल मैदान में बालक छात्रावास निर्माण की अनुमति दे दी है। पास में ही नर्मदा तट, पार्क और किला है जो हेरिटेज हैं।

प्रशासन को रवैया सुधारने की दी हिदायत-
विधायक डा. शर्मा ने बताया कि मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय का आदेश है कि नर्मदा से 300 मीटर तक कोई निर्माण नहीं होना चाहिए, लेकिन कलेक्टर द्वारा इस आदेश की अनदेखी की जा रही है। तीन दिन पहले कलेक्टर को पत्र लिखा था और चर्चा की थी, लेकिन कोई तबज्जो नहीं दी जा रही है। प्रशासन को अपना रवैया सुधारना चाहिए।

मेरे आने से पहले से हॉस्टल निर्माण का काम चल रहा है। शिक्षा विभाग की जमीन है, जब विभाग को आपत्ति नहीं है तो दिक्कत नहीं होना चाहिए। विधायक ने क्या कहा- मुझे जानकारी नहीं है। निर्माण कार्य जारी रहेगा।
शीलेंद्र सिंह, कलेक्टर

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned