दो करोड़ से बनेगी दो मॉड्यूलर ओटी, एक का काम शुरू, दो नॉन मॉड्यूलर ओटी का भी होगा निर्माण

दो करोड़ से बनेगी दो मॉड्यूलर ओटी, एक का काम शुरू, दो नॉन मॉड्यूलर ओटी का भी होगा निर्माण

Amit Kumar Shrama | Updated: 04 Jun 2019, 01:36:20 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

पीपीओटी को शिफ्ट कर संभाग की पहली मॉड्यूलर ओटी का काम शुरू हुआ

 

होशंगाबाद। जिला अस्पताल में मरीजों को बेहतर इलाज उपलब्ध कराने के लिए अस्पताल प्रबंधन द्वारा सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। मरीजों के गंभीर ऑपरेशन के लिए एक करोड़ रुपए की लागत से मॉड्यूलर ऑपरेशन थियेटर बनाने का काम को शुरू कर दिया गया है। जिला अस्पताल में दो मॉड्यूलर ओटी और दो नॉन मॉड्यूलर ओटी बनाए जाने की शासन की ओर से जनवरी माह में टेंडर होकर स्वीकृति मिल थी। इसी दौरान लोक निर्माण विभाग की टीम द्वारा अस्पताल का सर्वे भी किया गया था। सिविल सर्जन डॉ. सुधीर डेहरिया ने बताया कि एक ओटी करीब एक करोड़ रुपए की लागत से बनकर तैयार होंगी। जिसके बाद जिला अस्पताल में बड़े और गंभीर ऑपरेशन भी हो सकेंगे। पुरानी बिल्डिंग में बनेगी मॉड्यूलर ओटी सिविल सर्जन डॉ. डेहरिया ने बताया कि नई मॉड्यूलर ओटी अस्पताल की पुरानी बिल्डिंग में संचालित पीपीओटी के स्थान पर बनाई जाएगी। जब-तक नई ओटी तैयार नहीं होंगी, तब-तक के लिए ट्रामा ऑपरेशन थियेटर को पीपीओटी बनाया जाएगा। जिससे ऑपरेशन के लिए आने वाले मरीजों को ऑपरेशन के लिए परेशान न होगा पड़े।

मेजर सर्जरी में चिकित्सकों को मिलेगी सुविधा

ओटी में हेपा फिल्टर लगा होता है जो बैक्टीरिया व वायरस को फिल्टर कर देता है। वे अंदर नहीं आ पाते, जिससे संक्रमण का खतरा समाप्त हो जाता है। ओटी का प्रोटोकाल होता है। ह्यूमिडिटी (आर्द्रता) कंट्रोल रहती है। ऐसा इसलिए की नमी का स्तर मापदंड से कम ज्यादा होने पर बैक्टीरिया पनपने का डर रहता है। मॉड्यूलर ओटी पूरी तरह से एसी युक्त होती हैं। ओटी में हर घंटे में 15-20 बार एयर चैलेंज होते हैं। इसके लिए ओटी में एयर हैंडलिंग यूनिट लगे होते हैं,जो एयर को मापदंड के अनुसार रखते हैं। ओटी लाइट 10 लाख लक्स लीटर की होती हैं। ओटी में सारे उपकरण डिजिटल व हाईटेक होते हैं। ओटी में नाइट्रोजन, आक्सीजन व अन्य गैसेस के लिए एक ही प्लेटफार्म होता है। मेन ओटी में पहुंचने के पहले तीन चेम्बर होते हैं। ऑपरेशन ओटी के दरवाजे अपने खुलने और बंद होने वाले होते हैं।

इनका कहना है

मॉड्यूल ओटी का काम को शुरू कराया जा रहा है, यह नए अस्पताल भवन का हिस्सा होगी। जिला अस्पताल में २ मॉड्यूलर और २ नॉन मॉड्यूलर ओटी का निर्माण होना है। यह नए अस्पताल भवन का हिस्सा है, लेकिन इसके टेंडर पहले हो गए थे। इसके निर्माण कार्य को शुरू करा दिया गया है। - मयूरी जैन, इंजीनियर एनएचएम होशंगाबाद

hospital

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned