mp assembly elections 2018 भाजपा के 'गढ़ में सेंध लगाने आतुर है कांग्रेस

mp assembly elections 2018 भाजपा के 'गढ़ में सेंध लगाने आतुर है कांग्रेस

sandeep nayak | Publish: Sep, 06 2018 02:10:44 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

परिसीमन के बाद जिले की चारों सीटों पर है भाजपा का कब्जा

 

होशंगाबाद। जिले की चारों सीटों पर भाजपा का कब्जा है। बीते दस साल में भाजपा ने इस गढ़ को इतना मजबूत कर दिया कि आपातकाल के बाद इंदिरा विरोधी लहर में भी दिग्गज कांग्रेसी हजारी लाल रघुवंशी ने जीत दर्ज की थी वे भी दो बार से अपनी सीट नहीं बचा पा रहे हैं। अब भाजपा के इस किले को भेदने के लिए एक बार फिर कांग्रेस आतुर है। वह अपने विरोधी दल की तरह ही बूथ मैनेजमेंट में लग गई है। भाजपा भी अपने गढ़ को बचाने के जतन में जुटी है। विरोध के चलते वह अपने मौजूदा विधायकों की सीट भी बदल सकती है। सोहागपुर विधायक विजयपाल सिंह को होशंगाबाद शिफ्ट करने की चर्चाएं हैं तो सांसद भी यहां से टिकट चाह रहे हैं। इन दोनों सीटों पर पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी की भी नजर हैं। इन दोनों सीटों पर दमदार बागी भी मैदान में उतर सकता है, जो खेल बिगाड़ सकता है।

होशंगाबाद

परफर्मेंस
कृषि महाविद्यालय की सौगात और ओवर ब्रिज की स्वीकृति दिलाई। उनके कार्यकाल मेें पासपोर्ट आफिस खुला, कलेक्ट्रेट और आरटीओ भवन के निर्माण कार्य हुए।

चुनौतियां
पार्टी में ही एक विरोधी खेमा खड़ा होना। संगठन से भी तालमेल नहीं बैठना। नपाध्यक्ष द्वारा खुली बगावत करना। परिवार पर अतिक्रमण के आरोप लगना। विधानसभा में भर्ती को लेकर विवाद होना। खुद के छोटे भाई द्वारा भाजपा की खिलाफत करना। पार्टी हाईकमान से भी लगातार शिकायतें।

जातिगत समीकरण
ब्राह्मण, कुर्मी और एससी वोटर निर्णायक हैं। इनकी संख्या लगभग 95 हजार है। इसके बाद मांझी, राजपूत, यादव और अल्पसंख्यकों का दबदबा हैं।

प्रबल दावेदार
भाजपा: डॉ. सीताशरण शर्मा- विधायक

- राव उदयप्रताप सिंह- सांसद
- विजयपाल सिंह - सोहागपुर विधायक

- डॉ. राजेश शर्मा - नर्मदा अस्पताल के संचालक
यह नाम चर्चा में

शिव चौबे- खनिज विकास निगम अध्यक्ष
अखिलेश खंडेलवाल- नपाध्यक्ष

प्रबल दावेदार
कांग्रेस: मानक अग्रवाल- पूर्व प्रदेश प्रवक्ता

शिवराज चंद्रोल- जिला प्रवक्ता
राजेंद्र ठाकुर- मीडिया पैनेलिस्ट प्रदेश कांग्रेस

चंद्रगोपाल मलैया- पूर्व जिला पंचायत सदस्य
यह नाम चर्चा में

कपिल फौजदार- जिलाध्यक्ष
मीना वर्मा - पूर्व नपाध्यक्ष

महेंद्र शर्मा -प्रतिनिधि पूर्व प्रदेश कांग्रेस
सत्येंद्र फौजदार - पूर्व सचिव प्रदेश कांग्रेस

पाली भाटिया - पूर्व नगर कांग्रेस अध्यक्ष इटारसी
मोहन झलिया- प्रदेश उपाध्यक्ष, पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ

बाबू चौधरी- जिलाध्यक्ष किसान कांग्रेस
नोट: कांग्रेस में 15 लोगों ने टिकट के लिए आवेदन किए हैं।


तीसरा मोर्चा भी ठोकेगा ताल

यहां आप और बसपा भी सामाजिक वोट काटने मैदान में उतरने की तैयारी कर रहे हैं। बसपा जातिगत समीकरण को देखते हुए उम्मीदवार उतारती है। आप के जिलाध्यक्ष राजेश मालवीय ने बताया कि वो अच्छे उम्मीदवारों की तलाश में हैं।
-------------------------

भाजपा में टिकट के लिए कोई दावेदारी नहीं करता है, जो जितने वाला प्रत्याशी होगा उसे टिकट दी जाएगी। नगर पालिका में भी पार्टी ने जीतने वाला प्रत्याशी उतारा। ऐसा ही विधानसभा में होगा।
- हरिशंकर जायसवाल, जिलाध्यक्ष भाजपा

 

पूर्व में करीब १५ लोगों ने दावेदारी की थी, अभी भी कोई भी कांग्रेस में दावेदारी कर सकता है। इस बार लगातार हारने वाली सीटों के प्रत्याशियों के नामों की जल्द घोषणा की जानी चाहिए।
- कपिल फौजदार, जिलाध्यक्ष कांग्रेस

 

सोहागपुर

सोहागपुर।
वर्ष 2013 में मिले वोट

विधायक विजयपाल सिंह - 92849
रणवीर सिंह पटेल - 63968

परफर्मेंस
सड़कों का जाल बिछाया। बिजली के दो सब स्टेशन बनवाए। दो आईटीआई खुलवाई। गांव-गांव में धार्मिक आयोजन की सामग्री वितरण करते हैं। आपराधिक पृष्ठभूमि के लोगों को संरक्षण।

चुनौतियां
परिवार पर अवैध उत्खनन के आरोप। स्थानीय नगर पंचायतों से समांजस्य नहीं बैठना। सामाजिक वोट बैंक को भी साधे रखने में विफल।

जातिगत समीकरण: ब्राह्मण और गूर्जर प्रमुख हैं। इनकी 75 हजार से अधिक संख्या है। इसके बाद मीना, यादव और राजपूत समाज भी इतनी है, जिनका आंकलन करके ही पार्टी टिकट देती आईं हैं।
प्रबल दावेदार

भाजपा
- विजयपाल सिंह - विधायक

- हरि जयसवाल- जिलाध्यक्ष
- राजो मालवीय- प्रदेश प्रवक्ता

यह चर्चा में
ओम उपाध्यक्ष- नगर पंचायत अध्यक्ष

प्रशान्ना और प्रशांत हर्णे- पूर्व मंत्री मधुकर हर्णे के पुत्र एवं भाजपा पदाधिकारी
दिनेश शर्मा- पूर्व जिला पंचायत सदस्य

--------------
प्रबल दावेदार

कांगे्रस
- अशोक दुबे- पूर्व जिला कांग्रेस अध्यक्ष

- सविता दीवान - पूर्व विधायक
- अर्जुन पलिया- पूर्व विधायक

- संतोष मालवीय- नगर पंचायत अध्यक्ष
यह भी चर्चा में

पुष्पराज पटेल- पूर्व जिलाध्यक्ष
अभिलाष चंदेल- पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष

रणवीर पटेल- पूर्व प्रत्याशी
हर्षित गुरू - कार्यकारी युवक कांग्रेस अध्यक्ष

शीला यादव- पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष
विकल्प डेरिया- पूर्व प्रदेशाध्यक्ष एनएसयूआई


तीसरा मोर्चा भी ताल ठोकने तैयार

यहां से तीसरा मोर्चे के रूप में बसपा और आप भी अपने उम्मीदवार उतारने के लिए तैयार हैं। भाजपा से निष्कासित पूर्व विधायक गिरिजाशंकर शर्मा कांग्रेस से टिकट मांग रहे हैं लेकिन पार्टी ने अभी तक उन्हें शामिल नहीं किया है। ऐसे में आखिरी समय में वे निर्दलीय और तीसरे दल से भी मैदान में उतर सकते हैं।

 

Ad Block is Banned