बसपा सुप्रीमो मायावती को लेकर इस राज्यमंत्री ने दिया बड़ा बयान

बसपा सुप्रीमो मायावती को लेकर इस राज्यमंत्री ने दिया बड़ा बयान

Sandeep Nayak | Publish: Apr, 17 2018 10:45:13 AM (IST) | Updated: Apr, 17 2018 01:21:20 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

भुजबल सिंह बोले- मैं बसपा का प्रदेशाध्यक्ष था, तब मायावती को दिए थे ढाई करोड़

होशंगाबाद। चुनाव नजदीक आते ही आरोप प्रत्यारोप के साथ बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है। राज्यमंत्री का दर्ज प्राप्त अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के उपाध्यक्ष भुजबल सिंह अहिरवार ने बसपा सुप्रीमो को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। गौरतलब है कि सिंह बसपा ने भाजपा में आए थे तो उनको राज्यमंत्री का दर्जा दिया गया था।

यह लगाया आरोप
बहुजन समाज पार्टी छोड़कर भाजपा में आकर राज्यमंत्री बने भुजबल सिंह अहिरवार ने आरोप लगाया है कि जब वह बसपा के प्रदेशाध्यक्ष थे, तब बसपा की सुप्रीमो मायावती के दो जन्मदिन पर ढाई करोड़ रुपए चंदा कर दिए थे। लेकिन जब बसपा से वर्ष २००८ में बैरसिया से चुनाव लड़ा तो वह दो मिनट के लिए भी नहीं आई। साथ ही कहा कि बसपा का मतलब बुरी संगत पार्टी है। अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के उपाध्यक्ष अहिरवार ने पत्रकारों से चर्चा में कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कह दिया कि गारंटी उनका मामा लेगा, तो बैंक मैनेजरों को ऋण देने में किस बात की परेशानी है। अनुसूचित जाति जनजाति के युवाओं को स्वरोजगार से जोडऩे के लिए ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। यदि किसी बैंक मैनेजर ने ऋण देने के नाम पर लोगों को चक्कर लगवाए तो समझो खैर नहीं। इस तरह की शिकायत मिलने पर ऐसे बैंक मैनेजरों के खिलाफ हम शासन स्तर पर कार्रवाई करवाएंगे।

mp vidhan sabha eleaction latest news and mayawati latest news

आरक्षण का विरोध करने वाले भाजपाईयों पर लटकी तलवार
होशंगाबाद. आरक्षण का विरोध करने वाले भाजपाईयों पर गाज गिर सकती है। संगठन ने दस अप्रैल को हुए विरोध प्रदर्शन में उनकी सहभागिता की रिपोर्ट तलब की है। इसमें शामिल कुछ पदाधिकारियों को संभाग कार्यालय में तलब कर फटकार भी लगाई गई। इसका मुखर विरोध कर रहे पदाधिकारियों को चेतावनी देते हुए पार्टी से बाहर करने की धमकी भी दी गई। ज्ञात रहे कि दस अप्रैल को सामान्य वर्ग ने आरक्षण को लेकर विरोध प्रदर्शन किया था। इसमें कुछ भाजपा पदाधिकारियों ने भी सहभागिता की थी। इसे संगठन ने पार्टी एजेंडे के विरोध में माना है। सूत्र बताते हैं कि संगठन महामंत्री ने एेसे पदाधिकारियों को तलब कर जमकर फटकार लगाई और इस तरह के आंदोलनों से दूर बनाएं रखने के निर्देश दिए हैं। सूत्र बताते हैं कि एक वर्ग विशेष नाराज न हो, इस कारण पार्टी इस मामले में खुलकर बोलने से बच रही है। हालांकि मीडिया प्रभारी शंभू सोनकिया का कहना है कि इस तरह की कोई चर्चा फिलहाल नहीं हुई है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned