चैत्र नवरात्रि 2020: कोरोना को हराने भक्तों ने घर पर ही की देवी मां की आराधना- देखें फेसबुक लाइव

शुभ संयोगों के कारण खास रहेगी इस बार की नवरात्रि

होशंगाबाद। आज से विक्रम संवत 2077 हिन्दू नववर्ष शुरूआत हो चुकी है। सभी मां देवी की अराधना में जुटे हुए है। बता दें कि नवरात्रि में चार सर्वार्थसिद्धि योग, एक अमृतसिद्धि योग और एक रवियोग में चैत्र नवरात्रि का शुभारंभ हुआ है। पंडि़त शुभम दुबे के अनुसार इन विशेष योगो में पूजा करना काफी फलदायी माना जा रहा है। शुभ संयोंगो के कारण खास रहेगी। नवरात्रि 25 मार्च यानि आज सें प्रारंभ होकर 2 अप्रैल तक चलेगी। इन दिनों नौ देवी के अलग अलग रूपों की उपासना की जाएगी। कहा जाता है कि देवी मां इन दिनों अपने भक्तों का कल्याण करती हैं। इस बार की नवरात्रि में कई शुभ योग भी बन रहे हैं। नवरात्रि में चार सर्वार्थसिद्धि योग, एक अमृतसिद्धि योग और एक रवियोग रहेगा। जिसमें पूजा करना काफी फलदायी माना जा रहा है।

कोरोना का कहर: इस नवरात्रि भक्तों बिन सूना होगा माता का दरबार, 31 अप्रैल तक नहीं होगें दर्शन

बंद रहे मंदिर
नोबल कोरोना वायरस कोविड 19 के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एलान पर 15 अप्रैल तक टोटल लॉक डाउन कर दिया है। जिसको देखते हुए पूरे भारत के साथ मंदिरों को भी बंद कर दिया है। इस नवरात्रि भक्त अपने घरों में ही देवी की आराधना कर रहें है। ऐसे ही शहर में कई घरों में देवी की अराधना घरों में अपने परिवार के साथ की गई। परिवारजनों का कहना है कि कोरोना वायरस को हराने के लिए हम सभी अपने अपने घरों में देवी का पूजन कर रहें है।

इन दिन इन माता की करें अराधना
25 मार्च- प्रथमा तिथि, गुड़ी पड़वा, नवरात्रि आरंभ, घटस्थापना और मां शैलपुत्री की पूजा, हिंदू नव वर्ष की शुरुआत
26 मार्च- द्वितीया तिथि, सर्वार्थ सिद्धि योग, मां ब्रह्मचारिणी की पूजा
27 मार्च- तृतीया तिथि, सर्वार्थ सिद्धि योग, मां चंद्रघंटा की पूजा
28 मार्च- चतुर्थी तिथि, मां कुष्मांडा की पूजा
29 मार्च- पंचमी तिथि, रवि योग, मां स्कंदमाता की पूजा
30 मार्च- षष्ठी तिथि, मां कात्यायनी की पूजा
31 मार्च- सप्तमी तिथि, मां कालरात्रि की पूजा
1 अप्रैल- अष्टमी तिथि, मां महागौरी की पूजा
2 अप्रैल- नवमी तिथि, मां सिद्धिदात्रि की पूजा


नवरात्रि का महत्व
साल में कुल 4 नवरात्रि आती हैं। दो गुप्त रूप से तो दो सार्वजनिक रूप से मनाई जाती है। जिनमें चैत्र और आश्विन माह में पडऩे वाली नवरात्रि को सभी लोग जानते हैं। गुप्त नवरात्रि आषाढ़ और माघ महीने में आती हैं। इन गुप्त नवरात्रि में देवी मां को प्रसन्न करने के लिए तांत्रिक साधना की जाती है। नवरात्रि का हर एक दिन शुभ माना जाता है। इन नौ दिनों में किसी भी तरह के विशेष कार्य बिना मुहूर्त के किये जा सकते हैं।

Show More
poonam soni
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned