ना ट्रांसफॉर्मर लगे, ना लगा डबल सर्किट

रेंग रही लो वोल्टेज और फॉल्ट से बचाने वाली योजना

By: yashwant janoriya

Published: 04 Jan 2018, 11:00 AM IST

इटारसी. शहर में बिजली की व्यवस्था को और बेहतर करने के लिए करीब एक साल पहले जो योजना बनी थी वह रेंग रही है। योजना के तहत शहर में कई जगहों पर दो दर्जन से ज्यादा ट्रांसफॉर्मर, नई केबल और डबल सर्किट जैसे महत्वपूर्ण काम होना थे मगर हकीकत यह है कि अब तक वे काम ठेका लेने फर्म की सुस्त रफ्तार के कारण नहीं हो सके हैं। इन कामों के नहीं होने से आज भी शहर के बिजली उपभोक्ताओं लो वोल्टेज, बिजली ट्रिपिंग सहित अन्य तरह की समस्याओं से जूझना पड़ रहा है।

क्या है आईपीडीएस

शहर की बिजली व्यवस्था को और सुदृढ़ करने के लिए मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र वितरण कंपनी ने इटारसी के लिए आईपीडीपी योजना यानी इंटीग्रेटेड पॉवर डेवलपमेंट स्कीम का प्रावधान किया था। यह योजना करीब ३ करोड़ 90 लाख रुपए से ज्यादा की थी। इस स्कीम को वर्ष 2016 में स्वीकृति के लिए भेजा गया था। वर्ष 2017 के शुरूआती महीनों में ही इस योजना को स्वीकृति मिल गई थी।
यह होना थे काम
ट्रांसफॉर्मर लगना थे- करीब ३०
समरसता नगर में सब स्टेशन- ५ एमव्हीए
बूढ़ी माता मंदिर सब स्टेशन से डबल सर्किट- 33 केव्ही लाइन

यह है डीपीआर
एच बीम पर 1 किमी की 33 किमी लाइन- 761524 रुपए
33 केव्ही डीपी स्ट्रक्चर ऑन एच बीम्स- 194416 रुपए
33 केव्ही फोर पोल स्ट्रक्चर ऑन पीसीसी पोल- 458846 रुपए
रोड क्रासिंग फॉर 33 केव्ही ओवरहेड- 88716 रुपए
एच बीम पर 11 केव्ही लाइन- 2787913 रुपए
11 केव्ही डीपी स्ट्रक्चर ऑन एच बीम्स- 851463 रुपए
रोड क्रासिंग फॉर 11 केव्ही ओवरहेड- 182707 रुपए
एलटी लाइन डेवलपमेंट- 846877 रुपए
नोट-इसके अलावा अन्य काम भी होना थे।

यह है हकीकत

डीपीआर में जिन कामों का प्रावधान किया गया है उनमें से करीब नब्बे फीसदी काम अब तक नहीं हुए हैं। ठेका लेने वाली फर्म लक्ष्मीपति बालाजी टे्रडर्स ने केवल समरसता नगर में अभी सब स्टेशन के लिए कंट्रोल रूम कक्ष की तैयार किया है और बाउंड्रीवॉल बनाई है। अन्य कोई भी काम अब तक नहीं हुआ है। ना तो शहर में योजना में स्वीकृत नए ट्रांसफार्मर लगाए गए हैं और ना ही फॉल्ट की स्थिति बिजली सप्लाई चालू रखने के लिए बूढ़ी माता मंदिर सब स्टेशन पर डबल सर्किट का काम किया गया है।
काम की गति धीमी है
जिस फर्म ने काम लिया है उसकी गति बहुत ही धीमी है। हमने फर्म को काम में तेजी लाने के लिए कहा है। इस योजना के पूरे होने से शहर में लो वोल्टेज, फॉल्ट में कई घंटे बिजली बंद रहने सहित कई समस्याएं दूर हो जाएंगी।
विशाल उपाध्याय, डीजीएम मप्रमक्षेविविकं

yashwant janoriya
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned