सस्ते अनाज के लिए संघर्ष: 90 गांव में नहीं राशन दुकान, अनाज के लिए लोग करते हैं 25 किमी तक सफर

सस्ते अनाज के लिए संघर्ष: 90 गांव में नहीं राशन दुकान, अनाज के लिए लोग करते हैं 25 किमी तक सफर
सस्ते अनाज के लिए संघर्ष: 90 गांव में नहीं राशन दुकान, अनाज के लिए लोग करते हैं 25 किमी तक सफर

poonam soni | Updated: 06 Oct 2019, 12:05:32 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

जिले के 90 पंचायतों में नहीं है राशन दुकान, हितग्राहियों को सस्ते अनाज के लिए करना पड़ता संघर्ष

होशंगाबाद/ सस्ते अनाज के लिए लोगों को संघर्ष करना पड़ रहा है। वजह साफ है जिले की 90 ग्राम पंचायतों में अब तक राशन दुकान नहीं हैं। एेसे में सस्ते दाम में मिलने वाला राशन लेने हितग्राहियों को एक गांव से दूसरे गांव जाना पड़ रहा है। हालात यह हैं कि कुछ गांव की दूरी तो राशन दुकान से 25 किमी तक है। जबकि ज्यादातर राशन दुकानें 8 से 10 किमी दूर हैं।

ऐसे तय करते है सफर

हितग्राही राशन दुकानों का यह सफर पैदल, साइकिल या फिर बैलगाड़ी से तय कर रहे हैं। पर्रादेह, रंढ़ाल, चपलासर, काजलखेड़ी, कांसखेड़ा के लोगों ने कहा- गांव में ही राशन दुकान खुलना चाहिए। 1 रुपए में मिलने वाला गेहूं लेने ऑटो से जाते हैं तो दुकान तक लाने व छोडऩे में ही 100 रुपए तक किराया लग जाता है।


01 रुपए का अनाज लेने दूरी अधिक होने से 100 रुपए तक किराया लगाना पड़ रहा
25 किमी का सफर राशन लेने के लिए कुछ गांव के लोगों को तय करना पड़ रहा

हर माह आवंटन
3,38, 896
हर माह गेहूं का मिलता है आवंटन
8,07,574

हर माह चावल का मिलता है आवंटन
442 जिले में कुल राशन की दुकानें है जिनसे हितग्राहियों को राशन मिलता है।
90 राशन दुकान विहीन पंचायतें जिससे लोगों को दूसरे गांव राशन लेने जाना पड़ता है।
01, 78 हजार 247 हजार जिले में राशन कार्डधारी परिवार है

महिला समूह चलाएंगी राशन दुकानें
बाबई के 20 ग्राम पंचायतों में राशन की दुकानें नहीं है। जिनमें नवीन राशन दुकानें खोलने की प्रक्रिया शुरू की गई है। बाबई ब्लॉक की राशन दुकान विहीन पंचायतों में गोल, गुराडियाकलां, गौरा, काजलखेड़ी, कांसखेड़ा, झालौन, गुराडियामोती, कोडरवाड़ा, फुरतला, खारदा, सुआखेड़ी, मनवाड़ा, मारागांव, गोंदलवाड़ा, मुडियाखेड़ा, महेंद्रवाड़ी, उमरखेड़ी, मजोजलपुर, मोहासा, नया चूरना। इनमें से सात पंचायतें महिला स्व. सहायता समूह के लिए आरक्षित हैं।

हालात 01
ग्राम पंचायत चपलासर के लोगों को राशन लेने २५ किमी घूमकर मुख्य रास्ते से रायपुर

हालात 02
हासलपुर और पर्रादेह पंचायत में भी राशन दुकान नहीं है। ग्रामीणों को ८ से १० किमी का सफर तय करके दूसरी पंचायतों से अनाज लेने जाना पड़ता है। हासलपुर के लोग रंढ़ाल और पर्रादेह के कार्डधारी परिवारों को सात किमी दूर पलासडोह जाना पड़ता है।

गांव में राशन दुकान खोलने की मांग-
चपलासर में राशन दुकान नहीं है। जिसकी वजह से ग्रामीण परेशान हो रहे हैं। ग्रामीणों ने पिछले दिनों कमिश्नर रविंद्र मिश्रा को ज्ञापन देकर गांव में राशन दुकान खोलने की मांग की थी।
&जिन पंचायतों में राशन दुकानें नहीं है, वहां राशन दुकानें खोली जाएंगी। जिसकी प्रक्रिया चल रही है। राशन दुकान विहीन सभी पंचायतों में दुकानें खुलेंगी। विनोद चौहान, जिला आपूर्ति नियंत्रक होशंगाबाद।ाना पड़ रहा है। सरपंच कमलेश कीर ने बताया कि चपलासर में 700 बीपीएल कार्डधारी परिवार हैं। जिन्हें राशन के लिए रायपुर दुकान नंबर 5 जाना पड़ता है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned