होशंगाबाद में नहीं खरीददार, नमी के बावजूद इटारसी मंडी में ऊंचे भाव बिक रही उपज

बीस किमी में दो कृषि उपज मंडी : एक में सन्नाटा, एक में रौनक

होशंगाबाद
बीस किमी एरिया में दो कृषि उपज मंडी है। जिनमें से एक में सन्नाटा पसरा है और दूसरे में किसान और व्यापारियों की चहल-पहल से रौनक बनी हुई है। यह हाल हैं होशंगाबाद और इटारसी कृषि मंडी का। लगातार बारिश के बाद नमी से होशंगाबाद मंडी में इक्का-दुक्का किसान अपनी उपज लेकर आ रहे हैं। नमी की वजह से यहां खरीदारों ने हाथ खींच लिए हैं। जबकि शनिवार को इटारसी कृषि मंडी में नमी के बावजूद सोयाबीन उत्पादक किसानों को २७०० से ३६०० रुपए क्विंटल दाम मिल रहा है। धान भी १८०० से २४०० के भाव बिका।
---------
नहीं बिका अनाज, लौट गए किसान-
कृषि मंडी होशंगाबाद में शनिवार को कृषक हेमंत वर्मा और दिलीप सराठे सोयाबीन लेकर आए थे। दोनों किसान दोपहर १२ बजे तक नीलामी का इंतजार करते रहे। खरीदारों के नहीं आने पर नीलामी नहीं हुई। दोनों किसान उपज लेकर वापस लौट गए। ज्ञात हो बुधवार को मुहूर्त पूजा के बाद व्यापारियों ने तीन ट्राली धान २५०० रुपए क्विंटल खरीदा था। इसके बाद १८०० रुपए बोली लगाई गई। जिससे नाराज होकर किसान उपज वापस ले गए थे।
----------
इटारसी में मिल रहा अच्छा भाव-
व्यापारी विनीत राठी और मंटू ओसवाल ने बताया कि शनिवार को इटारसी मंडी में २५०० बोरा सोयाबीन की आवक हुई। सोयाबीन २७०० से ३६०० रुपए क्विंटल तक बिका। धान में १५ प्रतिशत नमी के बावजूद १८०० से २४०० रुपए क्विंटल नीलाम हुआ। होशंगाबाद मंडी की बजाय किसान इटारसी मंडी में उपज बेचने जा रहे हैं।
----------
इनका कहना है...
उपज में नमी की वजह से व्यापारी अनाज नहीं खरीद रहे हैं। किसानों से हमने उपज को सुखाकर लाने के लिए कहा है। -एनके लछवानी, सचिव कृषि उपज मंडी होशंगाबाद।

Manoj Kundoo
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned