ट्रेनिंग के बाद भी नसबंदी ऑपरेशन नहीं करने वाले संभाग के दस डाक्टरों को नोटिस

ट्रेनिंग के बाद भी नसबंदी ऑपरेशन नहीं करने वाले संभाग के दस डाक्टरों को नोटिस

Manoj Kumar Kundoo | Publish: Mar, 17 2019 12:11:59 PM (IST) | Updated: Mar, 17 2019 12:12:00 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

होशंगाबाद के 5, हरदा 3 और बैतूल जिले के 2 डाक्टरों को दिया नोटिस

होशंगाबाद.
एनएसवी (पुरुष नसबंदी) ऑपरेशन का प्रशिक्षण लेने के बावजूद ऑपरेशन नहीं करने वाले संभाग के दस डाक्टरों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इनमें होशंगाबाद के ५, हरदा के ३ और बैतूल जिले के २ डाक्टर शामिल हैं। संचालनालय स्वास्थ्य सेवायें मप्र के संयुक्त संचालक (शिकायत) डा. जेपी खरे ने नोटिस जारी किया है। नोटिस में कहा गया कि एनएसवी प्रशिक्षण देने के बाद भी एनएसवी ऑपरेशन नहीं किये जा रहे हैं। एेसे में राष्ट्रीय परिवार कल्याण के महत्वपूर्ण कार्यक्रम में उदासीनता बरती जा रही है। इससे प्रशिक्षण पर शासन द्वारा व्यय की गई राशि का सदुपयोग भी नहीं हो पा रहा है। नोटिस के जरिए मप्र सिविल सेवा नियम के अंतर्गत अनुशासनात्मक कार्रवाई करने व प्रशिक्षण पर व्यय की गई राशि वसूलने की चेतावनी भी दी गई।

इनको दिया गया नोटिस- होशंगाबाद जिले के बनखेड़ी में पदस्थ डा. जेएस परिहार, इटारसी में पदस्थ डा. आभा दुबे, डा. आभा जैन, जिला अस्पताल होशंगाबाद में पदस्थ डा. जास्मिन डेविड, पिपरिया में पदस्थ डा. पूनम गौर, हरदा जिला अस्पताल के डा. अजय शिवहरे, टिमरनी में पदस्थ डा. राजेश मीना, खिरकिया में पदस्थ डा. प्रणव मोदी, बैतूल जिले के मुलताई में पदस्थ डा. मनोज खन्ना और डा. रितु खन्ना को नोटिस दिया गया।
&&&&&&&&

 

 

 

 

 

 

ट्रेनिंग के बाद भी नसबंदी ऑपरेशन नहीं करने वाले संभाग के दस डाक्टरों को नोटिस
-होशंगाबाद के 5, हरदा 3 और बैतूल जिले के 2 डाक्टरों को दिया नोटिस
होशंगाबाद.
एनएसवी (पुरुष नसबंदी) ऑपरेशन का प्रशिक्षण लेने के बावजूद ऑपरेशन नहीं करने वाले संभाग के दस डाक्टरों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इनमें होशंगाबाद के ५, हरदा के ३ और बैतूल जिले के २ डाक्टर शामिल हैं। संचालनालय स्वास्थ्य सेवायें मप्र के संयुक्त संचालक (शिकायत) डा. जेपी खरे ने नोटिस जारी किया है। नोटिस में कहा गया कि एनएसवी प्रशिक्षण देने के बाद भी एनएसवी ऑपरेशन नहीं किये जा रहे हैं। एेसे में राष्ट्रीय परिवार कल्याण के महत्वपूर्ण कार्यक्रम में उदासीनता बरती जा रही है। इससे प्रशिक्षण पर शासन द्वारा व्यय की गई राशि का सदुपयोग भी नहीं हो पा रहा है। नोटिस के जरिए मप्र सिविल सेवा नियम के अंतर्गत अनुशासनात्मक कार्रवाई करने व प्रशिक्षण पर व्यय की गई राशि वसूलने की चेतावनी भी दी गई।

इनको दिया गया नोटिस- होशंगाबाद जिले के बनखेड़ी में पदस्थ डा. जेएस परिहार, इटारसी में पदस्थ डा. आभा दुबे, डा. आभा जैन, जिला अस्पताल होशंगाबाद में पदस्थ डा. जास्मिन डेविड, पिपरिया में पदस्थ डा. पूनम गौर, हरदा जिला अस्पताल के डा. अजय शिवहरे, टिमरनी में पदस्थ डा. राजेश मीना, खिरकिया में पदस्थ डा. प्रणव मोदी, बैतूल जिले के मुलताई में पदस्थ डा. मनोज खन्ना और डा. रितु खन्ना को नोटिस दिया गया।
&&&&&&&&&&&&&&

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned