तीन आईटीआई को नोटिस देकर पूछा- क्यों न मान्यता रद्द की जाए

विजयलक्ष्मी और वीएल आदर्श आईटीआई को मिला कारण बताओ नोटिस जारी

By: sandeep nayak

Published: 10 Feb 2018, 06:47 PM IST

इटारसी। भारत सरकार कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय प्रशिक्षण महानिदेशालय नईदिल्ली के निर्देश पर शहर के सभी आईटीआई संस्थानों का २ फरवरी को निरीक्षण किया गया था। निरीक्षण में पुरानी इटारसी स्थित वीएल आदर्श प्राइवेट आईटीआई और विजयलक्ष्मी आईटीआई में खामियां पाई गई थी। जिसके बाद ८ फरवरी को दोनों आईटीआई संस्थानों को कारण बताओ नोटिस थमा दिया गया है।
महानिदेशालय के निदेशक राज कुमार पाठक और उप निदेशक (प्रशिक्षण) पुनीता भाटिया ने नोटिस जारी किया है। नोटिस में बताया गया कि निरीक्षण के प्रतिवेदन में पता चला कि पुरानी इटारसी स्थित वीएल आदर्श और विजयलक्ष्मी प्राइवेट आईटीआई का संचालन निर्धारित मापदंडों के अनुसार नहीं किया जा रहा है। इसलिए इन संस्थाओं के डी-एफिलिएशन (मान्यता रद्द) की अनुशंसा संचालक मप्र द्वारा की गई है।
मामले में दोनों संस्था संचालकों को नोटिस देकर स्पष्टीकरण मांगा गया है। नोटिस में कहा गया कि आपके संस्थान की डी-एफिलिएशन हेतु कार्रवाई क्यों नहीं शुरू की जाए। दस दिन के भीतर स्पष्टीकरण दिया जाए। निर्धारित समय में जबाव न मिलने पर आगे की कार्रवाई नियमानुसार की जाएगी।
विजयलक्ष्मी में हुई थी भाजपा को वोट न करने की शपथ : पुरानी इटारसी स्थित विजयलक्ष्मी आईटीआई में गणतंत्र दिवस पर भाजपा को वोट नहीं करने की शपथ ली गई थी। जिसके बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने आईटीआई संचालक को जमकर फटकार भी लगाई थी।

अतिक्रमण करने वाले पर लगाया अर्थदंड
बैतूल. वन भूमि पर अतिक्रमण के एक मामले में न्यायाधीश ने आरोपी को दो हजार रुपए अर्थदंड की सजा सुनाई है। शासन की ओर से पैरवी करने वाले वरिष्ठ एडीपीओ अमित राय ने बताया कि २० अगस्त २०१२ को वन विभाग का अमला वन परिक्षेत्र चिचोली की खैरी बीट में गश्ती कर रहा था। वन विभाग की आरक्षित भूमि में आरोपी दिनेश वन भूमि की सफाई कर खेती के उ्ददेश्य से अतिक्रमण कर रहा था। वन विभाग ने मौके पर पंचानामा बनाया व कोर्ट में परिवाद प्रस्तुत किया। न्यायिक मजिस्टे्रट प्रथम श्रेणी पंकज कुमार की कोर्ट में चले प्रकरण में आरोपी दिनेश को २००० रु. अर्थदंड से दंडित किया है।

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned