अब वीडियो कांफ्रेंस की मदद से मिलेगा इलाज, जानें कैसे

टेली मेडिसीन की मदद से हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में होगा उपचार

By: sandeep nayak

Updated: 06 Jan 2020, 12:46 PM IST

होशंगाबाद/जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में अब वीडियो कॉल की मदद से डॉक्टर गंभीर मरीजों को उपचार की सलाह दे सकेंगे। इसके लिए जिले में हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर तैयार किए जा रहे हैं। जिसमें टेली मेडिसीन की सुविधाएं उपलब्ध होंगी। इसकी तैयारियां भी हो गई हैं। ग्रामीण क्षेत्रों के उप स्वास्थ्य केंद्रों व हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों में (सीएचओ) कम्प्युनिटी हेल्थ ऑफिसर पदस्थ किए गए हैं। जो सामान्य ओपीडी के अलावा सात प्रकार की जांच और 36 तरह की सामान्य दवाएं देंगे। गंभीर स्थिति में सीधे जिला अस्पताल और अन्य हायर सेंटरों में विशेषज्ञों की सलाह भी टेली मेडिसीन सुविधा से मिलेगी। जल्द होशंगाबाद में हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों में ट्रायल प्रशिक्षण प्रोग्राम कराया जाने की योजना है।

क्या है टेली मेडिसिन की सुविधा
टेली मेडिसिन नई तकनीक के तहत ऐसी चिकित्सा सेवा है, जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों में पीडि़त मरीजों का इलाज चिकित्सा विशेषज्ञ वीडियोग्राफी से किया जाता है। इस नई तकनीक से योजना के तहत इलाज प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में उपलब्ध कराने की कवायद तेज है।
इस तरह होगा मरीजों का इलाज
स्वास्थ केंद्रों में आने वाले ऐसे मरीज, जिनका इलाज सीएचओ अपने स्तर पर नहीं कर सकेंगे। वह टेलीमेडिसिन से चिकित्सा विशेषज्ञों से जुड़कर वीडियोग्राफी से सामाधान मांग सकेंगे। इससे ग्रामीण मरीजों को जिला अस्पताल तक नहीं आना पड़ेगा।

जिला अस्पताल में बनेगा सेंटर
योजना के अंतर्गत जिला अस्पताल में टेली मेडिसिन का कक्ष बनाया जाएगा। यहां स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की टीम बैठेगी। वह सीधे हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में वीडियो कांफ्रेंसिंग से इलाज मुहैया कराएगी। स्पेशलिस्ट डॉक्टर 11 से एक बजे के बीच टेली मेडिसिन में मौजूद रहेंगे।
इनका कहना है
टेली मेडिसिन की सुविधा से एचडब्ल्यूसी में इलाज उपलब्ध कराया जाएगा। इससे ग्रामीण क्षेत्रों के उन मरीजों को फायदा होगा। जो यहां नहीं पहुंच पाते हैं। इसकी लिए तैयारियां जल्द ही शुरू की जाएंगी।
डॉ. दीपक डेहरिया, जिला कार्यक्रम अधिकारी होशंगाबाद

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned