हमारे पास अगले दो घंटे की ऑक्सीजन बची है, व्यवस्था नहीं हो रही, आप मरीजों के लिए उचित अस्पताल देखें

जिलेभर में लगातार बढ़ रहे कोरोना मामलों के कारण ऑक्सीजन की कमी

 

 

By: sandeep nayak

Published: 15 Apr 2021, 11:50 AM IST

होशंगाबाद/हमारे पास अगले दो घंटे की ऑक्सीजन बची है। कहीं से व्यवस्था भी नहीं हो रही है, इसलिए कृप्या आप मरीजों के लिए उचित अस्पताल की व्यवस्था करें। कुछ इस तरह की बातें जिले के अस्पताल से सामने आ रही हैं। ऐसा ही एक मामला शहर के मालवी अस्पताल का आया है। दरअसल जिलेभर में लगातार बढ़ रहे कोरोना मामलों के कारण ऑक्सीजन की कमी हो रही है। जिस कारण मरीज परेशान हो रहे हैं।
जिले में कोरोना के लगातार बढ़ रहे मरीजों के कारण जिला ऑक्सीजन में ऑक्सीजन की खपत भी बढ़ गई। सामान्य दिनों में जहां 3-4 जेम्बो सिलेंडर प्रतिदिन की होने वाली खपत अब 25-30 जेम्बो सिलेंडर पर पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों की मानें तो होशंगाबाद में डिमांड के मुताबिक ऑक्सीजन सप्लाई नहीं मिल पा रही है। कोविड पॉजिटिव कम गंभीर मरीजों को अस्पताल में ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर का उपयोग किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभी हर रोज कोविड वार्ड के ऑक्सीजन के 19 पलंग के लिए करीब 30 जेम्बो सिलेंडरों (600 सीएफटी) का उपयोग हो रहा है। जबकि स्टॉक में 60 जेम्बो सिलेंडर हैं। अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि लगातार ऑक्सीजन की मांग बढ़ रही है।

स्टॉफ की कमी के कारण परेशानी
कोविड वार्ड का स्टॉफ लगातार मरीजों की सेवाओं में जुटा है। लेकिन व्यवस्थाओं और स्टॉफ की कमी के कारण लोगों की परेशानियां बढ़ती जा रही हैं। वार्ड में भर्ती मरीज को देखने के लिए ड्यूटी डॉक्टर आरीफ अली और गिनती की कुछ नर्स हैं, जो लगातार काम कर रहे हैं। जबकि उनका मानना है 3 पलंग पर एक स्टॉफ नर्स होना चाहिए। जबकि 2 से 4 स्टाफ 50 मरीजों की देखभाल कर रही हैं।

कोविड वार्ड में गर्मी से परेशान मरीज
कोविड वार्ड में मरीज गर्मी से परेशान हैं। लेकिन प्रबंधन ने इस परेशानी से निपटने के लिए कोई उपाए नहीं किया है।अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि प्रोटोकॉल के अनुसार वार्ड में एसी और कूलर का उपयोग नहीं किया जा सकता है। ऐसे में गर्मी से मरीज सबसे अधिक परेशान है।

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned