बेदर्द सर्दी ने तोड़ा पचमढ़ी में 9 साल व होशंगाबाद में पिछले दस साल का रिकॉर्ड

पचमढ़ी और बैतूल में एक डिग्री पर पहुंचा पारा, होशंगाबाद में छह डिग्री से ऊपर

By: poonam soni

Published: 30 Dec 2018, 11:41 AM IST

होशंगाबाद/इटारसी. नर्मदांचल में हाड़ कंपानें वाली ठंड पडऩे लगी है। संभाग के बैतूल और होशंगाबाद के हिल स्टेशन पचमढ़ी में पारा गिरकर एक डिग्री पर पहुंच गया है। होशंगाबाद मंे भी तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है। शनिवार को तापमान 6.8 डिग्री पर जाकर रूका। मौसम विभाग की माने तो नए साल के शुभारंभ तक यह गिरकर पांच डिग्री पर पहुंच सकता है। ठंड के चलते वाहनों व मैदानों बर्फ जमने लगी है। शनिवार को पचमढ़ी और बैतूल का पारा लुढ़क कर एक डिग्री पर आ गया, वहीं होशंगाबाद शहर में चल रहा न्यूनतम तापमान 7-8 डिग्री से गिरकर 6.8 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। जो कि दिसंबर माह का सबसे कम तापमान रहा। सर्दी ने पचमढ़ी में पिछले 9 साल एवं होशंगाबाद में 5 साल का रिकार्ड तोड़ा है। मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटों में तीव्र शीतलहर और पाला पडऩे की चेतावनी दी है। इधर, चिकित्सकों ने लोगों से बर्फीली सर्दी में सर्दी-बुखार और हार्ट अटैक से बचने और शरीर के तापमान को बनाए रखने बचाव की सलाह दी है।
और गिरेगा पारा, 5 डिग्री तक आने की संभावना- मौसम वैज्ञानिक डीएस गौर के मुताबिक अगले दो दिन यानी नए साल के पहले दिन जिले में पारा और नीचे गिरकर 5 डिग्री न्यूनतम पर आ सकता है। शुक्रवार को दिन का अधिकतम तापमान 25.1 डिग्री और रात का न्यूनतम तापमान 6.8 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ है, जो कि सामान्य से 3.2 डिग्री से. कम रहा। 15-16 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से उत्तर और उत्तर-पूर्वी बर्फीली हवा चल रही है। इस से जिलों में कड़ाके की ठंड के तेवर तीखे बने हुए हैं।
बैतूल में पत्तियों पर जम गई बर्फ- बैूतल में लगातार तापमान में गिरावट होने से शनिवार को २० साल का रिकार्ड टूट गया। पत्तों पर ओस की बंूद तक जम गईं। मौसम विभाग के प्रेक्षक प्रयाग पोटफोड़े ने बताया कि वे पिछले २० वर्ष में जिले में अभी तक भी एक और दो डिग्री तक तापमान नहीं आया है। ऐसा पहली बार हो रहा है।
कृषि विभाग ने दी पाले से फसलों के बचाव की सलाह- कृषि विभाग ने रबी फसलों को पाले से बचाने की सलाह दी है। उप संचालक जितेंद्र सिंह ने बताया कि मौसम विभाग के फीडबैक से जिले में भी न्यूनतम तापमान 4 डिग्री से कम रह सकता है। इस दौरान पाला पडऩे की संभावना है। इसलिए किसानों को रबी फसलों के बचाव के लिए सलाह दी जा रही है। जिसमें किसान भाई रात्रि में तीसरे और चौथे पहर में खेतों की मेड़ों पर कचरा एवं खरपतवार आदि जलाकर धुआं करें। खरपतवार का भी नियंत्रण करते रहें। हवा की गति करीब 7.1 से 7.8 किमी प्रतिघंटा रहेगी। तापमान का पारा भी 4-5 डिग्री तक पहुंच सकता है।

पिछले पांच साल का सबसे न्यूनतम तापमान
वर्ष दिनांक सबसे कम
2014 27 दिसंबर 05.1
2015 15 दिसंबर 07.3
2016 23 दिसंबर 08.7
2017 19 दिसंबर 09.2
2018 29 दिसंबर 06.8

poonam soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned