सूरत-ए-जिला अस्पताल...अस्पताल में रंग-रोगन, बरामदे में चल रहा मरीजों का उपचार

सूरत-ए-जिला अस्पताल...अस्पताल में रंग-रोगन, बरामदे में चल रहा मरीजों का उपचार

poonam soni | Publish: Jul, 20 2019 12:46:33 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

घर से लेकर आए पंखा

होशंगाबाद. जिला अस्पताल में तीन दिन से रंगरोगन चल रहा है। यहां के मेल मेडिकल वार्ड में भर्ती मरीजों का इलाज बाहर गैलरी में हो रहा है। गैलरी में 24 पलंग और बैंच बिछाए गए हैं। जिनमें 28 मरीज भर्ती किए गए हैं। एेसे में एक पलंग पर दो-दो तो कहीं तीन बैंच एक साथ मिलाकर पलंग बनाकर मरीजों को लेटाया गया है।

 

गैलरी में ठीक से उपचार के लिए जगह भी नहीं
इन्हीं अव्यवस्थाओं के बीच पिछले तीन दिनों से इलाज चल रहा है। मेल मेडिकल वार्ड की गैलरी में जहां मरीजों का उपचार हो रहा है वहां न पंखे हैं और न ही पलंग बिछाने के बाद आवाजाही के लिए पर्याप्त जगह। एेसे में मरीज और उनके नाते-रिश्तेदार परेशान हो रहे हैं।

 

मरीजों ने बताई समस्या
पांजरा गांव के संतोष चौरे पीलिया से पीडि़त हैं। तीन दिन से अस्पताल में भर्ती हैं। मरीजों ज्यादा और पलंग कम होने से तीन बैंच पर उन्हें लेटा दिया गया है। बिना पानी का कूलर गर्म हवा फेंक रहा है। जिससे उनकी हालत बिगड़ रही है। आईटीआई कॉलोनी निवासी दिनेश तिवारी ने कहा- पुताई से रंग की बदबू और धूल से परेशानी हो रही है।

 

घर से लेकर आए पंखा
बंगाली कॉलोनी निवासी एक मरीज के रिश्तेदार गर्मी से बचने घर से टेबिल फेन लेकर आए। हाउसिंग बोर्ड निवासी एक मरीज के बड़े भाई ने बताया कि गर्मी से गैलरी में बैठना भी मुश्किल हो रहा था। वार्ड के भीतर कूलर रखा था, जिसे खुद ही लेकर आए और चालू कर लिया।

 

खुले परिसर में मच्छरों से खतरा
मरीजों ने बताया कि दिन से ज्यादा रात के समय परेशानी आ रही है। अस्पताल परिसर के आसपास गंदगी और खुला होने से मच्छर काटते हैं। एेसे में और ज्यादा बीमार होने का खतरा बना हुआ है।

 

बीज विक्रेता संघ वार्ड की पुताई करवा रहा है। अब वार्ड को सुधारने के लिए मरीजों को कहां लेकर जाएं। बरामदे में मरीजों का इलाज हो रहा है, कोई समस्या नहीं है। मरीजों के फायदे के लिए ही तो वार्ड सुधरवा रहे हैं।
डॉ. सुधीर डेहरिया, सीएस जिला अस्पताल होशंगाबाद

Pantaing running in the hospital

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned