अब बिजली गुल होने पर अंधेरे में नहीं रहेगी चौकी

एसआरपी ने अपराधों की समीक्षा बैठक ली,चौकी प्रभारी हुए शामिल

By: sandeep nayak

Published: 10 Mar 2019, 05:23 PM IST

पिपरिया। शनिवार को जीआरपी चौकी में एसआरपी जीआरपी जबलपुर ने थाना प्रभारियों की सयुक्त समीक्षा बैठक ली। बैठक में अधिकारियों से पिछले लूट,चोरी की वारदातों को लेकर अब तक की कार्रवाई की समीक्षा कर आगे की कार्रवाई के दिशा निर्देश दिए।
जीआरपी एसआरपी सुनील कुमार जैन शनिवार को स्थानीय चौकी पहुंचे। चौकी में जबलपुर से इटारसी तक के जीआरपी थाना सहित विशेष जांच दल के अधिकारी कर्मचारी शामिल रहे। एसआरपी ने बिंदुवार रेलवे सीमा क्षेत्र,स्टेशनों पर पिछले दिनों हुए अपराधों की रोकथाम और अपराधियों की सर्चिंग के बारे में फीड बैक लिया। पिछले दिनों बागरा तवा में एक्सप्रेस ट्रेन में हुई लूट को लेकर एसआरपी ने आरोपियों की पतारशी के लिए किए गए प्रयासों को सुनने के बाद आगे की जाने वाली कार्रवाई से अधिकारियों को अवगत कराया। एसआरपी ने कहा कि रेल यात्रियों की सुरक्षा के लिए दिए गए वरिष्ठ अधिकारियों के दिशा निर्देशों के तहत विशेष जांच दल कार्रवाई करें। एसआरपी ने कटनी में पकड़े गए जहरखुरानी गैंग से जुड़े अन्य मामले की तफतीश के लिए भी अधिकारियों को जवाबदारी सौंपी। चौकी प्रभारी बीएम द्विवेदी सहित गाडरवारा,नरसिंहपुर,गोटेगांव,जबलपुर,इटारसी के अधिकारी और विशेष जांच दल का स्टॉफ महत्वपूर्ण बैठक में उपस्थित रहा।

 

चौकी में वैकल्पिक बिजली कनेक्शन के लिए दिए निर्देश
जीआरपी चोकी बिजली जाने पर अंधेरे में रहती है स्टॉफ प्लेटफॉर्म की रौशनी में काम करते है। लॉपकअप में बंद अपराधियों को लेकर असुरक्षा का माहौल रहता है यह सवाल किए जाने पर एसआरपी ने तत्काल स्टेशन मैनेजर से बात कर चौकी में लाइट गोल होने पर आपात बिजली कनेक्शन उलब्ध कराने की बात कही। एसआरपी ने कहा डीआरएम जबलपुर से इस संबंध में बैठक में चर्चा हो चुकी है रेलवे बिजली विभाग को इस संबंध आवश्यक हुआ तो पत्र भी चौकी प्रभारी के माध्यम से दे दिया जाएगा बिजली गोल होने पर चौकी अब अंधेरे में नही रहेगी यहां रेलवे के जनरेटर से कनेक्शन जल्द करवाया जाएगा।

चौकी थाने में अपग्रेड होगी
जीआरपी चौकी को अब तक थाना नही बनाए जाने के सवाल पर एसआरपी ने कहा इसके प्रयास जारी है। प्रदेश शासन ने चौकी को अपग्रेड करने मंजूरी दे दी है रेलवे की मंजूरी के लिए प्रस्ताव दिया गया है। थाना बनाने में ५०-५०फीसदी सहमति प्रदेश शासन और रेलवे की रहती है दोनो की सहमति मिलते ही चौकी अपग्रेड होगी। एसआरपी ने कहा पिपरिया चौकी का लंबा कार्यक्षेत्र है गाडरवारा से इटारसी तक चौकी स्टॉफ काम देखता है थाना बनने से गाडरवारा से जबलपुर तक के थाने बेहतर काम कर सकेंगे वही पिपरिया से इटारसी तक रेल यात्री सुरक्षा एवं अपराधो पर कारगर तरीके से अंकुश लग सकेगा। थाना बनने से स्टाफ की तैनाती होगी।

इनका कहना है
जीआरपी थाना प्रभारियों की बैठक लेकर पिछले दिनों हुई आपराधिक घटनाओं की समीक्षा कर आगामी रणनीति से अधिकारियों को निदेशित किया गया। चौकी को वैकल्पिक बिजली का प्रबंध जल्द कराएंगे वही चौकी अपग्रेडेशन की कार्रवाई प्रस्तावित है इसका रिमाइंडर वरिष्ठ कार्यालय को भेजेंगे।

सुनील कुमार जैन, एसआरपी जबलपुर

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned