राजनेता नहीं चाहते दोषियों पर हो कार्रवाई

राजनेता नहीं चाहते दोषियों पर हो कार्रवाई

rajendra parihar | Publish: Sep, 11 2018 09:43:27 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh

षि उपज मंडी समिति द्वारा पूरा राशि जमा होने के बाद भी सेंड्री शॉप के आवंटन के प्रस्ताव को निरस्त करने के मामले में सोमवार को मंडी सचिव नीलकमल वैद्य ने प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। राज्य विपणन बोर्ड की उपसंचालक रितु चौहान द्वारा पूर्व जारी आदेश में कहा गया था कि मंडी सचिव वैद्य को अपने साथ प्रतिवेदन लेकर उपस्थित होना है। पहली बार सचिव वैद्य आंचलिक कार्यालय में उपस्थित तो हुईं लेकिन प्रतिवेदन नहीं दिया।

होशंगाबाद. कृषि उपज मंडी समिति द्वारा पूरा राशि जमा होने के बाद भी सेंड्री शॉप के आवंटन के प्रस्ताव को निरस्त करने के मामले में सोमवार को मंडी सचिव नीलकमल वैद्य ने प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। राज्य विपणन बोर्ड की उपसंचालक रितु चौहान द्वारा पूर्व जारी आदेश में कहा गया था कि मंडी सचिव वैद्य को अपने साथ प्रतिवेदन लेकर उपस्थित होना है। पहली बार सचिव वैद्य आंचलिक कार्यालय में उपस्थित तो हुईं लेकिन प्रतिवेदन नहीं दिया। अब इस बार भी प्रतिवेदन ईमेल पर प्रस्तुत किया गया है। सूत्रों की माने तो समय सीमा निर्धारित होने की वजह से सचिव ने मेल पर प्रतिवेदन दिया है। जल्द ही प्रतिवेदन की हार्डकॉपी भी उपसंचालक को उपलब्ध करायी जाएगी।
नहीं पहुंचा एक भी समिति सदस्य
मंडी सचिव वैद्य सहित अध्यक्ष व कोई भी सदस्य उपसंचालक कार्यायल में उपस्थित नहीं हुआ। जबकि उपसंचालक द्वारा ४ सितंबर को जारी आदेश में साफ कहा गया था कि मंडी समिति की बैठक में उपस्थित अध्यक्ष व सदस्यों को उपसंचालक कार्यालय में निर्धारित समय पर उपस्थित होना है। वहीं इसकी सूचना सभी सदस्यों तक पहुंचाने की जिम्मेदारी भी मंडी सचिव वैद्य को सौंपी गई थी।
प्रोसेडिंग में गड़बड़ी की हुई थी
कृषि उपज मंडी समिति द्वारा 30 अगस्त को सामान्य सम्मेलन आयोजित किया गया। सम्मेलन के दौरान मंडी समिति ने वीरेन्द्र कुमार यादव की सेंड्रीशॉप क्रमांक 16 के आबंटन को निरस्त करने का प्रस्ताव पास किया था। इसके विरोध में आवेदक यादव ने मप्र राज्य विपणन बोर्ड के प्रबंधन संचालक के पास मामले की शिकायत की। अब राज्य कृषि विपणन बोर्ड की उप संचालक रितु चौहान ने 06 सितंबर को मंडी सचिव नीलकमल वैद्य, अध्यक्ष जानकी मीना व सभी उपस्थित सदस्यों को तलब किया था। आदेश में कहा गया था कि यदि मंडी सचिव व सदस्य दोपहर 06 सितंबर को 12 बजे तक कार्यालय में उपस्थित नहीं होते हैं तो बोर्ड द्वारा एकपक्षीय कार्रवाई की जाएगी।
इनका कहना है
मंडी सचिव द्वारा ईमेल के माध्यम से प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया है। उन्होंने जल्द ही हार्डकॉपी में प्रतिवेदन उपलब्ध कराने की बात कही है। हॉर्ड कॉपी में प्रतिवेदन मिलने के बाद ही कार्रवाई की जाएगी।
रितु चौहान, उपसंचालक, राज्य विपणन बोर्ड

Ad Block is Banned