फैजान हत्याकांड का खुलासा: फिल्म और क्राइम पेट्रोल देख ऐसे उतारा फैजान को मौत के घाट, पढ़े पूरी खबर

पंद्रह वर्षीय मोहम्मद फैजान की हत्या के मामले का आज प्रेस कांफ्रेंस में हुआ खुलासा

By: poonam soni

Updated: 20 Sep 2019, 03:36 PM IST

होशंगाबाद/ पंद्रह वर्षीय मोहम्मद फैजान की हत्या के मामले में पुलिस को महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे थे। 40 हजार लूटने के लिए ही फैजान की हत्या की गई थी। इस मामले में मालाखेड़ी के दो युवकों को हिरासत में लिया गया था। उनसे गहन पूछताछ जारी रही थी। पुलिस आज इस अंधे कत्ल का खुलासा करेंगी। एसपी एमएल छारी ने इसकी जांच के लिए दस सदस्यीय चार स्पेशल टीमें बनाई थी। चारों टीम को अलग-अलग टास्क दिए गए हैं। इसके पहले ही १६ सिंतबर को फैजान की मौत का का पता सिर और गर्दन में लाठियों से किए गए वार से हुई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इस खुलासे के बाद यह आशंका प्रबल हो गई थी। फैजान का अपहरण कर लूट के इरादे से ही मौत के घाट उतारा गया होगा। वह उस समय रहस्यमय तरीके से गायब हो गया था जब दुकान से 40 हजार रुपए बैंक में जमा करने निकला था। पांच दिन बाद सोमवार को उसका शव शहर से 14 किलोमीटर दूर खेत में मिला था। इधर घटना से नाराज मुस्लिम समाज ने एसपी एमएल छारी को ज्ञापन सौंपकर तीन दिन का अल्टीमेटम भी दिया था। उन्होंने कहा है कि तीन दिन में अपराधी नहीं पकड़े गए तो आंदोलन किया जाएगा।

फैजान हत्याकांड : पुलिस के हाथ लगे सुराग, इसलिए की गई थी हत्या

दो भाईयों को हिरासत में लिया
फैजान हत्याकांड को लेकर पुलिस ने संदेही दो भाईयों को हिरासत में लिया था। वह भी फैजान की तरह दुकान पर काम करते हैं। उन्हें पता था कि वह 40 हजार रुपए लेकर जा रहा है। इस कारण वह उसे बस स्टैंड से अपने साथ ले गए। पैसे लूटने के बाद हत्या कर दी। पुलिस अभी मामले में उनसे गहन पूछताछ कर वारदात की कडिय़ां जोड़ रही है। ज्ञात रहे कि हंगामा सेल के कर्मचारी फैजान (15) की लाश 14 किलोमीटर दूर ग्राम रोहना के पास रोड किनारे झाडिय़ों में पड़ी मिली थी। मृतक के सिर व गर्दन में चोट के निशान पाए गए थे। समाज के लोगों ने तीन दिन में आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी थी।

लाठी से पीटकर की गई फैजान की हत्या, आरोपियों का सुराग देने वाले को मिलेगा दस हजार का इनाम

यह है आरोपी का नाम
फैजान अपहरण व सनसनीखेज खबर का खुलासा प्रेसवार्ता के दौरान किया। आरोपी के नाम का खुलासा किया। पुलिस ने बताया कि आरोपी का नाम सतीश यादव व मनीष यादव है जो निवासी मालाखेड़ी के रहने वाली है।

40 हजार रुपए लेकर बैंक गए किशोर का पांच दिन बाद मिला शव, परिजनों ने इस तरह की पहचान

ऐसे दिया वारदात को अंजाम

पुलिस पूछताछ से जानकारी हाथ लगी है कि दोनो आरोपी जुआ खेलने एवं नशा करने के आदी थे। टीवी में फिल्मे देखने एवं क्राइम पेट्रोल जैसे टीवी सीरियल देखने के शौकीन भी थे।अपने शौक को पूरा करने के लिए प्रकरण के मुख्य आरोपी सतीश यादव ने अपने भाई मनीष यादव के साथ मिलकर योजना बनाई कि मृत्यक फैजान रोज अपनी दुकान से बड़ी राशि लेकर बंधन बैक जाता है। जब फैजान बंधन बैक गया तो आरोपी सतीश उसे बाढ़ दिखाने के बहाने बहला फुसला कर मोटसाइकल पर बैठाकर सतरास्ता ग्वालटोली एसपीएम टोलनाका होते हुए ग्राम रोहना ले गए। ग्राम रोहना लेजाकर फैजान से ४० हजार की राशि छिन्ने की कोशिश की जब उसने नही दिए तो आरोपी ने उसके सर पर लोहे के पाइप से वार किया।

यह सुनाई सजा
आरोपियों को फैजान हत्याकांड मामले में कोतवाली पुलिस ने आरोपी के कब्जे से फैजान से लूटे गए 25 हजार रूपए, लोहे के पाइप जब्त कर आरोपियों पर धारा 302, 397, 364, 363, 201, 34 भादवि के तहत गिरफ्तार कर लिया है।

यह था मामला
पांच दिन पहले सतरस्ता स्थित हंगामा सेल से 40 हजार रुपए लेकर बैंक में जमा करने गए युवक का शव सोमवार दोपहर को सुनसान सड़क किनारे मिला। शव पुराना होने के कारण सड़ी-गली स्थिति में मिला है। रोहना से 2 किमी दूर मिले इस शव के पास बंधन बैंक का रसीद कट्टा और साथ में युवक के कपड़े और चप्पलें भी पुलिस ने बरामद की हैं। जिससे युवक के परिजनों ने उसकी शिनाख्त की है। घटना की सूचना मिलने के बाद परिजनों में गम का माहौल है। हत्या की आशंका जताई जा रही है। पोस्टमार्टम के बाद साफ होगा कि शव किशोर का है या फिर किसी और व्यक्ति का।


दिन भर पुलिस खंगालती रही सीसीटीवी फुटेज
कोतवाली टीआई विक्रम रजक ने बताया कि मामले की जांच व आरोपियों की पहचान व गिरफ्तारी के लिए विभिन्न बिंदुओं पर जांच की जा रही है। कंट्रोल रूम में बैठकर अधिकारियों ने बस स्टैंड, हीरो हांडा चौराहा सहित आसपास के सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले हैं। लेकिन अभी तक कोई सफलता नहीं मिली।

इनकी रही भूमिका
एसपी एमएल छारी के मार्गदर्शन एवं एएसपी धनश्याम मालवीय के निर्देशन में एसडीओपी मोहन सारवान के नेतृत्व में कोतवाली थानाप्रभारी विक्रम रजक, देहात थाना प्रभारी आशीष पवार सहित पुलिस की टीम ने सनसनीखेज खबर का खुलासा किया।

photo
poonam soni
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned