मनरेगा में ₹18 बढ़ाए, फिर भी 35 राज्य में सबसे कम मजदूरी

अब 190 रुपए मिलेगा मेहनताना, जिले के डेढ़ लाख मजदूरों को मिलेगा लाभ

होशंगाबाद . महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) में काम करने वाले मजदूरों की मजदूरी में बढ़ोतरी की गई है। मनरेगा में काम करने वाले मजदूरों को अब तक 176 रुपए मजदूरी मिलती थी, जिसमें 18 रुपए की वृद्धि करते हुए 190 रुपए प्रतिदिन मजदूरी की गई है। इस संबंध में ग्रामीण विकास मंत्रालय ने आदेश जारी कर दिए हैं। बढ़ाई गई मजदूरी मनरेगा में काम करने वाले मजदूरों को 1 अपै्रल से मिलेगी। हालांकि 18 रुपए की वृद्धि करने के बावजूद यह मजदूरी 35 प्रदेशों में सबसे कम है।

इसलिए नहीं मिलते मजदूर-
मनरेगा के अलावा खुली मजदूरी करने पर मजदूरों को 300 से 350 रुपए तक मिलते हैं। यही सबसे बड़ी वजह है कि मनरेगा में मजदूर काम नहीं करना चाहते। इसी वजह से जिले में मजदूर उपलब्ध नहीं कराने वाले 130 ग्राम रोजगार सहायकों को नोटिस भी दिया जा चुका है। हालात यह रहे कि जिले की 52 पंचायतों में काम के लिए पंाच प्रतिशत मजदूर भी नहीं मिल रहे थे। जिससे काम पिछड़ गए।
जिले मेंं करीब डेढ़ लाख मजदूर-
बाबई 17771, बनखेड़ी 31733, होशंगाबाद 8300, केसला 22164, पिपरिया 27562, सिवनीमालवा 24054, सोहागपुर में 17872 जॉब कार्डधारी मजदूर दर्ज हैं।
मनरेगा में होते हैं ये काम-
मनरेगा से कुल 207 प्रकार के निर्माण कार्य कराए जाते हैं। जिनमें पीएम आवास, खेल मैदान, शांतिधाम, तालाब, कपिल धारा कूप, निर्मल नीर, मेढ़ बंधान, नाडेप, सीसी रोड़, ग्रेबल रोड, पौधरोपण मुख्य हैं।
जानिए मनरेगा में कहां कितनी मजदूरी-
जहां सबसे कम मजदूरी-
पहले : झारखंड 168, मप्र-छत्तीसगढ़ 174, उत्तरप्रदेश-उत्तराखंड 175 रुपए
अब : झारखंड 194, मप्र-छत्तीसगढ़ 190, उत्तरप्रदेश-उत्तराखंड 201 रुपए

जहां सबसे ज्यादा मजदूरी-
पहले : हरियाणा 281, चंडीगढ़ 273, केरल 271, अंडमान 264, गोवा 254 रुपए
अब : हरियाणा 309, चंडीगढ़ , केरल 291, अंडमान 267, गोवा 280 रुपए

बृजेश चौकसे Editorial Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned