19 साल बाद रक्षाबंधन पर बन रहा विशेष योग, भाई-बहन करें राशि के अनुसार यह काम

श्रवण और घनिष्ठा नक्षत्र में रक्षाबंधन पर दिनभर रहेंगे शुभ मुहूर्त

By: poonam soni

Published: 13 Aug 2019, 04:05 PM IST

होशंगाबाद। भाई -बहन के पवित्र रिश्तों का बंधन रक्षाबंधन का पर्व आने वाला है। सबसे खास बात यह है कि इस 19 साल रक्षाबंधन और 15 अगस्त एक सााि रहेगा। इस दिन एक तरफ भाई बहन के स्नेह का पर्व मनाया जाएगा। वहीं दूसरी तरफ आजादी का जश्र भी मनाया जाएगा। ज्योतिषियों विकास दुबे के अनुसार इस बार रक्षाबंधन पर भद्रा नहीं है। इसलिए पूरा दिन राखी बांधने के लिए शुभ रहेगा। श्रवण नक्षत्र में दिन की शुरुआत होगी। जो 8.30 बजे तक रहेगा। इसके बाद घनिष्ठा नक्षत्र है। सुबह 11 बजे तक सौभाग्य योग और इसके बाद शोभन योग में रक्षाबंधन मनेगा। इस दिन भाई-बहन अपनी राशि के हिसाब से उपाय करने से सफलता मिलेगी।

 


19 साल बाद 15 अगस्त पर पर्व
ज्योतिषाचार्य पं. सोमेश परसाई के अनुसार स्वतंत्रता दिवस के साथ रक्षा का बंधन पर्व 19 साल पहले 2000 में मनाया गया था। श्रवण नक्षत्र सुबह 8.01 बजे तक ही है। इसके बाद घनिष्ठा नक्षत्र आ जाएगा। इसीलिए रक्षा बंधन शाम चार बजे से पहले करना चाहिए। गुरुवार को पूर्णिमा तिथि व श्रवण नक्षत्र के मिलने से सिद्धि योग बन रहा है। इस दिन पूर्णिमा शाम 4.20 बजे तक रहेगी। श्रावण शुक्ल पक्ष पूर्णिमा पर गुरुवार को राखी बंधेगी। ज्योतिषाचार्य के अनुसार श्रावण पूर्णिमा के दिन की शुरुआत श्रवण नक्षत्र में होगी। इसके बाद धनिष्ठा नक्षत्र रहेगा। सौभाग्य और शोभन योग के कारण भी यह पर्व खास संयोग लेकर आ रहा है। इस दिन यजुर्वेदीय ब्राह्मणों का उपाकर्म भी होगा। गायत्री जयंती और लव-कुश जयंती भी इसी दिन है। भद्रा नहीं होने से पूरे दिन रक्षाबंधन के लिए शुभ है।

 


सूर्योदय के पहले समाप्त होगी भद्रा
ज्योतिषविद् विकास दुबे के अनुसार इस बार भद्रा सूर्योदय के पहले ही समाप्त हो जाएगी। श्रवण नक्षत्र, स्वामी चंद्र, योग सौभाग्य करण वणिज, राशि मकर, स्वामी शनि, इन सभी योग को मिला कर पूरा दिन रक्षाबंधन के लिए शुभ है। बहने शुभ मुहूर्त में राखी बांध सकेंगी।

 


राशि के हिसाब से करें भाई-बहन ऐसा
मेष- बहन को लाल रंग के वस्त्र दें।
वृषभ- बहन को मोती की माला दें।
मिथुन- बहन को पिस्ता दें।
कर्क- बहन को मिठाई में बर्फी दें।
सिंह- बहन को गुड और लाल वस्त्र दें।
कन्या- बहन को फल दें।
तुला- बहन को दक्षिणा के साथ में चावल दें।
वृश्चिक- बहन को केसर दान करें।
धनु- बहन को पीले वस्त्र और शहद दें।
मकर- बहन को नीले वस्त्र, सोने की वस्तु दें।
कुंभ- बहन को तांबे का बर्तन दें।
मीन- बहन को घी और पीले वस्त्र दें।

Show More
poonam soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned