भाई की रक्षा कर रहीं बहन, पल्लवी बनी अपने भाई-बहनों की आखं

भाई की रक्षा कर रहीं बहन, पल्लवी बनी अपने भाई-बहनों की आखं

poonam soni | Updated: 15 Aug 2019, 11:01:25 AM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

बहन का कहना- भाई की रक्षा करूंगी हमेशा, इनकी सेवा कर कर्तव्य कर रही पूरा

होशंगाबाद- आज मैं जो भी कुछ हूं अपनी बहन की बदौलत ही हूं और भगवान करे हर घर में संभव ना हो तो जहां दिक्कत है वहां ऐसी एक बहन जरूर दे। यह कहना है होशंगाबाद निमसाडिय़ा के सत्यम कीर का जो अपनी आंखों से पूरी तरह देख नहीं सकते लेकिन बहन अपने भाई की आंख बनकर उसकी दुनिया को रोशन कर रही है।

 

बहन बनी भाई की आंखे
होशंगाबाद से 10 किमी दूर निमसाडिय़ा गांव निवासी एक बहन अपने भाई की आंखें बनकर उनका भविष्य संवार रही है। निमसाडिय़ा निवासी पल्लवी कीर अपने दृष्टिवाधित भाई के साथ कदम से कदम मिलाकर चल रहीं है। वह पहले खुद पढ़ती है फिर उन्हे सुनाकर याद कराती है। भाई सत्यम का कहना है कि आज बहन नहीं होती तो हम दुनियां नहीं देख पाते। उसी ने ही हमें नॉर्मल बना रखा है।

 

्रबहन पल्लवी कीर का कहना
पल्लवी का कहना पल्लवी कीर ने बताया कि भाई को दृष्टिवाधित होने पर समस्या आई लेकिन उन्हे भी पार किया। वह बोलकर इनके लिए परीक्षा की तैयारी कराती हैं। वहीं मोबाइल, डेजी प्लेयर और मोबाइल रिकार्डर के माध्यम से सत्यम को पढ़ाती हैं। पल्लवी का कहना है कि यह देख नहीं सकते लेकिन मैं इनका सपना पूरा करना चाहती हूं। ताकि भविष्य में किसी के सहारे की जरूरत न पड़े। इनकी सेवा कर अपना कर्तव्य पूरा कर रहीं हूं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned