बृज के कलाकारों ने रासलीला के मंचन से जीता लोगों का दिल

बृज के कलाकारों ने रासलीला के मंचन से जीता लोगों का दिल

pradeep sahu | Publish: Oct, 14 2018 11:10:15 AM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

शहर के द्वारिकाधीश मंदिर परिसर में आयोजित की जा रही रासलीला

इटारसी. भगवान श्रीकृष्ण की सबसे अच्छी और प्यारी कोई बचपन की लीला है तो वह है माखन चोरी लीला। भगवान श्रीकृष्ण प्रतिदिन गोपियों और ग्वालबाल संग माखन चोरी करने जाते हैं। माखन चोरी की लीला भगवान ने इसलिए की, क्योंकि गोपियां भगवान से प्रेम करती थीं और भगवान अपनी लीला के माध्यम से उन्हें प्रेम देना चाहते थे। वास्तव में भगवान माखन चोरी नहीं बल्कि वे तो चित-चोर हैं। भगवान ने बृज में नित्य ही ऐसी लीला की है, लेकिन आज श्री द्वारिकाधीश के प्रांगण में सैंकड़ों भक्तों के बीच भगवान की ऐसी लीला हुई कि लगातार ढाई घंटे लोग अपनी जगह से हिले नहीं। पूरा द्वारिकाधीश मंदिर परिसर भक्तों भरा था। कृष्ण की माखन चोरी, राधा संग प्रेम प्रसंग, मैया यशोदा से ठिठोली, ग्वाल बाल संग खेल, चक्र सुदर्शन डांडिया आदि का सुंदर नाट्य मंचन श्रीहित आदर्श कृष्ण कला मंडल वृंदावन के कलाकारों द्वारा स्वामी चंद्रबिहारी वशिष्ठ के निर्देशन में किया।

रामलीला में अहिल्या उद्धार का किया मंचन

इटारसी. रामलीला में शनिवार को अहिल्या उद्धार का मंचन किया गया। इसी के साथ फूलों की बगिया का प्रसंग बड़े अच्छे ढंग से प्रस्तुत किया गया। नगर पालिका परिषद के तत्वावधान में गांधी स्टेडियम और पुरानी इटारसी के सूखा सरोवर में रामलीला का आयोजन किया जा रहा है। महर्षि विश्वामित्र के साथ अयोध्या के दोनों राजकुमार श्रीराम और लक्ष्मण मिथिला नरेश के मेहमान हैं। जनकपुरी में धनुष यज्ञ का आयोजन है। श्रीराम सुबह गुरुपूजन के लिए फूल ले जाने पुष्प वाटिका में जाते हैं। इधर सीता जी भी गौरा पूजा के लिए पुष्पवाटिका पहुंचती हैं। दोनों की नज़रें मिलती हैं, सीताजी गौरा से अपने लिए श्रीराम जैसा ही पति मांगती हैं तो गौरा जी से उन्हें आशीर्वाद देती हैं कि जिसे मन में चाहा वही पति मिलेगा। इधर श्रीराम भी जब विश्वामित्र के पास पहुंचते हैं तो अपने मन की सारी बात उन्हें बताते हैं। महर्षि कहते हैं, सुफल मनोरथ होई तुम्हारा। दोनों को आशीर्वाद मिल जाता है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned