कलेक्टर के नाम से वसूली का मामला: खाद्य अधिकारियों को नोटिस जारी कर तलब किया एसडीएम ने, नहीं पहुंचे

खुद ना हाजिर होकर वकील को भेजा दोनों अधिकारियों ने, व्यापारी भी नहीं पहुंचा बयान देने

होशंगाबाद. कलेक्टर के नाम पर पांच लाख रुपए की मांग करने के मामले में खाद्य अधिकारियों को एसडीएम ने नोटिस जारी करते हुए तलब किया था, लेकिन खाद्य निरीक्षक लीना नायक और शिवराज पावक एसडीएम कार्यालय नहीं पहुंचे। उन्होंने वकील भेजकर जबाव बनाने के लिए समय मांगा है। वहीं व्यापारी भीम मुन्यार भी अपने बयान दर्ज कराने कार्यालय नहीं पहुंचे। मुन्यार ने एक बार फिर स्वास्थ्य खराब होने का हवाला देकर कुछ दिनों का समय मांगा है। इधर, व्यापारियों में भीम मुन्यार के कृत्य को लेकर काफी गुस्सा है। एसडीएम आदित्य रिछारिया को तीन दिनों जांच पूरी करना है। दूसरे दिन भी बयान नहीं हो सके हैं। सूत्रों की मानें तो मामले में एसडीएम कार्यालय की ओर से जानबूझ कर देरी की जा रही है। लेकिन एसडीएम बुधवार को व्यापारी सहित दोनों खाद्य अधिकारियों के बयान लेने को कह रहे हैं।

मुख्यमंत्री तक पहुंचाया मामला
स्थानीय नेताओं ने खाद्य अधिकारी की शिकायत मुख्यमंत्री तक पहुंचाई है। साथ में रिकार्डिंग भी दी है। पूर्व नपाध्यक्ष अखिलेश खंडेलवाल ने बताया कि व्यापारियों में काफी गुस्सा है। सरकार और जिला प्रशासन के अधिकारियों को सख्ती से इस मामले में निपटना चाहिए।

इनका कहना है
मंगलवार को भी भीम मुन्यार नहीं आया, उसे बुधवार को आने को कहा है। नोटिस के बाद भी दोनों खाद्य अधिकारी बयान के लिए नहीं पहुंचे, उन्होंने अपने वकील को भेजा था। बुधवार को शायद जांच आगे बढ़ाई जा सके।
-आदित्य रिछारिया, एसडीएम होशंगाबाद

Show More
बृजेश चौकसे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned