जनप्रतिनिधियों के "नखरे" नहीं जाएंगे खटारा बस में

जनप्रतिनिधियों के
hosangabad

Mukesh Kumar Sharma | Updated: 11 Aug 2015, 11:43:00 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

जिला पंचायत के माध्यम से जनपद और पंचायत प्रतिनिधियों ने एक्सपोजर विजिट पर रवाना होने से पूर्व

होशंगाबाद।जिला पंचायत के माध्यम से जनपद और पंचायत प्रतिनिधियों ने एक्सपोजर विजिट पर रवाना होने से पूर्व मंगलवार को हंगामा कर दिया। जनप्रतिनिधियों ने यह कहकर जाने से इनकार कर दिया कि जिस बस से हमें भेजा जा रहा है, वह खटारा है।

नई बस मिलेगी, तभी जाएंगे। एक्सपोजर विजिट पर इन प्रतिनिधियों को भोपाल, सीहोर, देवास व उज्जैन भेजा जा रहा था। बाद में अधिकारियों ने दूसरी बस की व्यवस्था कर इन्हें रवाना किया। यह विवाद उस वक्त हुआ, जब अतिरिक्त सीईओ हरी झंडी दिखाकर बस को रवाना करने ही वाले थे।


ये कहा जनप्रतिनिधियों ने

जनप्रतिनिधियों ने कहा, बस खटारा है। इसकी छत से पानी रिस रहा है। सीटें गीली हैं। इसलिए इस बस से नहीं जाएंगे। एक्सपोजर विजिट के लिए पिपरिया, सिवनीमालवा, होशंगाबाद, सोहागपुर के जिला व जनपद पंचायत के करीब 34 जनप्रतिनिधियों का चयन हुआ था। अव्यवस्था से नाराज कुछ जनप्रतिनिधि घरों को लौट गए।

लापरवाही तो की थी अधिकारियों ने


जनप्रतिनिधियों के लिए बस की व्यवस्था करने में अधिकारियों ने लापरवाही बरती, लेकिन उन्हें इसका अंदाजा नहीं था कि बात इतनी बिगड़ जाएगी कि जनप्रतिनिधि जाने से ही इनकार कर देंगे। शासन की योजना फ्लॉप न हो, इस डर से अधिकारी चुप्पी साधे रहे।

अधिकारी बोले, भोपाल तक तो चलो

नई बस की व्यवस्था करने में देरी हुई, तो अधिकारियों ने जनप्रतिनिधियों से कहा, भोपाल तक इसी बस में चलो, फिर नई बस की व्यवस्था कर लेंगे, लेकिन जनप्रतिनिधि इस पर तैयार नहीं हुए। उन्होंने कहा, नहीं हम तो होशंगाबाद से ही सुविधाजनक बस से जाएंगे।

दूसरी बस के लिए भटके, खाना भी खिलाया

नई बस की व्यवस्था के लिए विभागीय अधिकारियों को खासी मशक्कत करनी पड़ी। पहले वाली बस में जनप्रतिनिधियों को बिठाकर अधिकारी शहर में इधर-उधर घुमाते रहे और नई बस तलाशते रहे। इस दौरान काफी देर हो गई, तो जनप्रतिनिधियों को एक होटल में ले जाकर खाना खिलाया गया। बाद में जैसे-तैसे नई बस की व्यवस्था हो पाई।

जनप्रतिनिधियों को दूसरे जिलों की पंचायतों के कामकाज का अध्ययन कराने भेजा जा रहा है। बस खटारा होने की शिकायत मिलते ही सेडमेप के नोडल अधिकारी बृजेश तिवारी को निर्देश देकर दूसरी बस बुलवाकर जनप्रतिनिधियों को रवाना किया गया है।मनोज तिवारी, अतिरिक्त सीईओ
Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned