scriptRoad-drain problems of ITI Industrial Area not solved | आईटीआई इंडस्ट्रीयल एरिया की सड़क-नाली की समस्याएं नहीं हुई हल | Patrika News

आईटीआई इंडस्ट्रीयल एरिया की सड़क-नाली की समस्याएं नहीं हुई हल

-सेपरेड फीडर, स्ट्रीट लाइटें नहीं होने से रात में दिक्कतें
-९ जनवरी को जिला लघु उद्योग संघ की बैठक भी बुलाई

होशंगाबाद

Published: January 05, 2022 12:30:40 pm

होशंगाबाद. जिला-संभागीय मुख्यालय के आईटीआई किशनपुरा इलाके में स्थित इंडस्ट्रीयल एरिया के लघु उद्योग संचालक लंबे समय से विभिन्न समस्याओं से परेशान चल रहे हैं, उनकी समस्याओं एवं सुविधाओं के तरफ न तो जिला उद्योग विभाग कोई ध्यान दे रहा और न ही नगरपालिका प्रशासन। जबकि दोनों ही विभाग उद्योग संचालकों से सालों से टैक्स की वसूली कर रहे। इंडस्ट्रीयल एरिया में सुविधा के नाम कुछ नहीं है। यहां कि सड़कें जर्जर पड़ी हुई है। डामर-गिट्टी उखड़ रहे। आधा दर्जन से अधिक सड़कों का अस्तित्व ही खत्म हो चुका है। नालियों की हालत भी ये है कि उद्योग से निकलने वाला दूषित पानी भी सड़कों पर ही जहां-तहां फैलकर बीमारियों को बढ़ा रहा है। शाम और रात होते ही पूरा एरिया अंधेरे में डूब जाता है। स्ट्रीट लाइटें भी महीनों से बंद पड़ी हुई है। यही स्थिति सफाई की भी है। सड़कों एवं उद्योगों के आसपास गंदगी-कचरा फैल रहा है। कई जगह से कचरे को जलाने से बदबू व धुआं भी आजू-बाजू के रहवासी इलाकों के लोगों की दिक्कतें बढ़ा रहा है। जिला लघु उद्योग संघ कई बार उद्योग विभाग एवं जिला प्रशासन को ज्ञापन, आवेदन देकर मांग कर चुका है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

बंद होते जा रहे उद्योग
आईटीआई क्षेत्र में कृषि उपज मंडी के पीछे स्थित कई एकड़ में फैले इंडस्ट्रीयल एरिया में कहने को 65 उद्योग संचालित होते हैं, लेकिन सुविधाओं के अभाव और समस्याओं के चलते इनमें से 35-40 ही चालू हैं, बाकी के दम तोड़ चुके हैं। इन उद्योगों को फिर से चालू कराने के लिए शासन व प्रशासन के स्तर व विभागीय तौर पर कोई प्रयास नहीं हो रहे। जो उद्योग चल रहे वह भी सुविधाओं के अभाव में बंद होने की स्थिति की कगार पर पहुंच रहे हैं।

ये समस्याएं और इन सुविधाओं की दरकार
लघु उद्योग संघ के अध्यक्ष सुरेंद्र गौर, उपाध्यक्ष अवध नारायण चौहान, सचिव महेंद्र सिंह रघुवंशी, महामंत्री गौरव सेठ सहित अन्य पदाधिकारी व सदस्यगण बताते हैं कि इंडस्ट्रीयल एरिया नाम का रह गया है। यहां ऐसी कोई सुविधाएं नहीं है, जिससे उद्योगों को उन्नति और गति मिल सके। दाल, आटा मिल, बेकरी, टाइल्स, आरा मशीन के अलावा दूसरी कोई भी कृषि व फूड आधारित उद्योगों की नए सिरे स्थापना के प्रयास नहीं हो रहे हैं। उ्दयोग एरिया की सड़कें जर्जर हैं। नालियां सालों बाद भी नहीं बनी, जो हैं वह भी चोक हो चुकी है। स्ट्रीट लाइटें महीनों बाद भी चालू नहीं हो सकी। रात के अंधेरे में आवारा तत्व यहां गदर मचाते हैं।

टैक्स वसूलने के बाद भी नहीं दे रहे सुविधाएं
उद्योग संचालकों व संघ के पदाधिकारियों ने बताया कि उद्योग विभाग की जमीन पर बैंक भी मार्डगेज लोन नहीं दे रहे। उद्योग व नपा दोनों ही टैक्स नियमित रूप से वसूल रहे। टैक्स में भी भारी बढ़ोतरी हो चुकी है। टैक्स में कोई राहत नहीं मिल पा रही। उ्द्योगों के संचालन में बिजली के सेपरेड फीडर नहीं होने से भी भारी समस्याएं आ रही है। बिजली की कमी व कम बोल्टेज के कारण भी मशीनों लोड नहीं उठा पाती है।

इनका कहना है....
आईटीआई इंडस्ट्रीयल एरिया की जो भी समस्याएं उसके निराकरण के लिए शासन के सड़क-नालियों के निर्माण सहित अन्य कार्यो का प्रस्ताव भेज रखा है। जैसे ही शासन से राशि की स्वीकृति होती है काम शुरू कराए जाएंगे। फूड आधारित संयंत्रों की स्थापना के भी प्रयास किए जाएंगे।
-कैलाश माले, महाप्रबंधक जिला उद्योग एवं व्यापार केंद्र होशंगाबाद

आईटीआई इंडस्ट्रीयल एरिया की सड़क-नाली की समस्याएं नहीं हुई हल
आईटीआई इंडस्ट्रीयल एरिया की सड़क-नाली की समस्याएं नहीं हुई हल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022 LIVE updates: देश आज मना रहा 73वें गणतंत्र दिवस का जश्न, ITBP के जवानों ने - 40 डिग्री तापमान में फहराया तिरंगाRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस पर दिल्ली की किलेबंदी, जमीन से आसमान तक करीब 50 हजार सुरक्षाबल मुस्तैदRepulic Day 2022: जानिए क्या है इस बार गणतंत्र दिवस की थीमस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयRepublic Day: छत्तीसगढ़ के दो सैन्य ग्राम, जहां कदम रखते ही सुनाई देती है शहीदों और वीर सैनिकों की वीर गाथा, ऐसा देश है मेरा...UP Election 2022: सपा ने 39 प्रत्याशियों की जारी की सूची, 2002 के बाद पहली बार राजा भैया के खिलाफ उतारा प्रत्याशीpetrol diesel price today: पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई बदलाव नहीं
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.