आधार में अटका करोड़ों का भुगतान

yashwant janoriya

Publish: Mar, 14 2018 11:31:28 AM (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
आधार में अटका करोड़ों का भुगतान

आरटीई के तहत शिक्षण सत्र २०१६-१७ के विद्यार्थियों की होना है फीस प्रतिपूर्ति

होशंगाबाद. शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आरटीई) के तहत शिक्षण सत्र २०१६-१७ के विद्यार्थियों की फीस प्रतिपूर्ति होना है। शासन द्वारा ४ हजार ४१९ रूपए प्रति विद्यार्थी के हिसाब से निजी स्कूल प्रबंधकों को राशि का भुगतान करना है। जिले में लगभग १५ हजार विद्यार्थी है जिनकी फीस प्रतिपूर्ति होना है। हालांकि उक्त सत्र के विद्यार्थियों का आधार पंजीयन नहीं होने से फीस प्रतिपूर्ति नहीं हो पा रही है। जिला शिक्षा केन्द्र की मांग पर कलेक्टर ने जिले के सभी लोकसेवा केन्द्रों पर विशेष शिविर लगाकर विद्यार्थियों का आधार पंजीयन व आधार अपडेशन करने के निर्देश दिए हैं। संबंधित स्कूल प्रबंधन लोकसेवा केन्द्र से संपर्क कर अपनी सुविधा के हिसाब से शनिवार व रविवार को भी इस सेवा का लाभ ले सकता है। जिले के लोकसेवा केन्द्रों पर आधार संबंधी कार्य होंगे। डीपीसी एसएस पटेल ने बताया कि आधार अपडेशन के बिना फीस प्रतिपूर्ति नहीं हो सकती इससे लोकसेवा में आधार पंजीयन व अपडेशन की व्यवस्था शुरू की है। स्कूल प्रबंधन केन्द्र पर संपर्क कर समय निश्चित कर सकते हैं।
जिले में १५ अन्य केन्द्रों को भी मंजूरी : लोकसेवा केन्द्रों के अलावा भी यूआईडी ने जिले में १५ केन्द्रों को स्वीकृति दे दी है। इन केन्द्रों में बैंकों के अलावा पोस्ट ऑफिस भी शामिल हैं जहां आधार संबंधी कार्य किए जाएंगे। इनमें जिला मुख्यालय पर सात, इटारसी में चार, सिवनीमालवा में दो, बाबई में एक और बनखेड़ी में एक केन्द्र पर पंजीयन की सुविधा उपलब्ध होगी। जिले में लगभग १५ हजार विद्यार्थी है जिनकी फीस प्रतिपूर्ति होना है। हालांकि उक्त सत्र के विद्यार्थियों का आधार पंजीयन नहीं होने से फीस प्रतिपूर्ति नहीं हो पा रही है।
होशंगाबाद - सिंडीकेट बैंक, सेंट्रल बैंक, पोस्ट ऑफिस, आईसीआईसीआई बैंक, एसपीएम पोस्ट ऑफिस, आईडीबीआई बैंक
इटारसी - पंजाब नेशनल बैंक, पोस्ट ऑफिस पांडरी, केनरा बैंक, यूको बैंक
बनखेड़ी - स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
बाबई - पोस्ट ऑफिस
सिवनीमालवा - पोस्ट ऑफिस बानापुरा, पोस्ट ऑफिस सिवनीमालवा

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned